शरीर के तापमान को कैसे नियंत्रित रखें | Daily Health Tip | 15 March 2020 | AAYU App

maintain your body temperature

गर्मियों में शरीर को ठंडा रखने के लिए छाछ पीना चाहिए इसमें लेक्टिक एसिड पाया जाता है जो स्किम मिल्क से ज़्यादा स्वास्थय्वर्धक होता है। यह पाचन में भी कारगर है। ”

” In summer, include buttermilk in your meals to keep your body cool. It is rich in Lectic acid which is much healthier than skim milk. It is also help in better digestion. “

Health Tips for Aayu App

शरीर का तापमान कम होने को अल्प तापवस्था भी कहते है | यह चिकित्सा की आपातकालीन स्थिति होती है, जो तब होती है, जब आपका शरीर गर्मी पैदा कर सकता है | इस तेज गर्मी के कारण शरीर का तापमान कम हो जाता है | जबकि सामान्य शरीर का तापमान लगभग 98.6 F (37 C) होता है, और शरीर का तापमान कम होना में आपके शरीर का तापमान इस स्थिति से कम हो जाता है |

इसके उपयोग से मानसिक ही नहीं शारीरिक दिक्कतें भी दूर की जा सकती है। ये पेट को ठंडक प्रदान करने में भी बहुत कारगर है। खाना खाने के बाद हर दिन यदि 30 ग्राम सौंफ खाया जाए तो इससे कोलेस्ट्राल की समस्या दूर होती है साथ ही साथ आंखों की रोशनी कम हो जाने पर आपको रोज कम से कम तीस ग्राम सौंफ जरूर खाना चाहिए। इससे आंखें ही नहीं लिवर से जुड़ी समस्या भी दूर होगी। पेट में दर्द हो या अपच के कारण उल्टी आ रही हो तो सौंफ का काढ़ा पीएं। 

जब आपके शरीर का तापमान कम होना होता है, तो आपके दिल तंत्रिका तंत्र और अन्य अंग सामान्य रूप से कार्य नही कर सकते है और अंत में आपके दिल और श्वांस प्रणाली की विफलता के कारण मृत्यु हो सकती है |

अल्प तापवास्था के कारण:

शरीर का तापमान कम होने का सबसे सामान्य कारण ठंडे मौसम की स्थिति, लेकिन आपके शरीर की तुलना में किसी भी वातावरण के ठंडा होने तक लम्बे समय तक संपर्क से अल्प तापवस्था हो सकती है | शरीर का तापमान कम होने के कारणों में शामिल है

Health Tips- Aayu App
  • वह कपड़े पहनना जो मौषम की स्थितियों के बिलकुल भी अनुकूल नही है
  • बहुत समय तक ठण्ड में रहना
  • गिले कपड़ों से बाहर निकलने में असमर्थ होना
  • नौकायन दुर्घटना से पानी में गिरना
  • एक घर में रहना जो बहुत ठंडा है
  • आपका शरीर किसी वजह अपने आप से ठंडा पड़ना

निदान:

शरीर का तापमान कम होने का निदान आमतौर पर किसी व्यक्ति के शारीरिक लक्षणों और शर्तों पर आधारित होता है | जिसमे अल्प तपवस्था वाला व्यक्ति बीमार हो जाता है | रक्त परिक्षण भी अल्प तपवस्था और इसकी गंभीरता की पुष्टि कर सकता है |

शरीर का तापमान कम होने का निदान आसानी से नही हो सकता है, हालाँकि यदि लक्षण हल्के होते है जैसे जब एक व्यस्क व्यक्ति जो घर के अंदर होता है तो उसमे भ्रम के लक्षण समन्वय और भाषण की समस्याओं का अभाव होता है |

इलाज:

अल्प तपवस्था या शरीर का तापमान कम होने वाले किसी व्यक्ति के लिए तत्काल चिकित्सा का ध्यान रखना चाहिए, और चिकित्सा सहायता उपलब्ध होने तक, शरीर का तापमान कम होने पर इन बातों का ख्याल रखें |

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

प्राथमिक चिकित्सा:

  • जब आप अल्प तपवस्था वाले व्यक्ति की मदद कर रहे हों, तो उस व्यक्ति को रगडो, उसकी मालिस करो, और हल्के दबाव के साथ उसके ह्रदय को ट्रिगर कर सकते है |
  • अगर संभव हो तो उस व्यक्ति को शुष्क और गर्म स्थान पर ले जाएं, और अगर बाहर ले जाने में असमर्थ है, तो उसको गर्म कपड़ो से ढक दे, और गिले कपड़ों को हटा दें |
  • व्यक्ति को गर्म करने के लिए शुष्क कंबल और कोट की परतो का उपयोग करें, व्यक्ति के सिर को कवर करें केवल चेहरा उजागर छोड़े |
  • गंभीर अल्प तपवस्था वाला व्यक्ति बेहोश हो सकता है, सांस लेने या नाड़ी के कोई स्पष्ट संकेत नही होते है, यदि व्यक्ति की श्वांस बंद हो गई है, या उखड़ी हुई है, तो सीपीआर तुरंत शुरू करें |
  • व्यक्ति को गर्मास देने के लिए गर्म पानी, हिटिंग पैड या हिटिंग लैम्प का उपयोग न करें | अति गर्मी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है |
  • हल्के अल्प तपवस्था वाले व्यक्ति के लिए गर्म कपड़े और गर्म तरल पदार्थ ही उपचार के लिए काफी होते है |
  • यदि किसी व्यक्ति को गंभीर अल्प तपवस्था है, तो उसको तुरंत चिकित्सक की सलाह की आवश्यकता होती है |

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.