इन चीज़ों को खाएं, रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं | Daily Health Tip | 30 July 2020 | Aayu App

how to boost immunity

अगर आप बीमारी से जल्दी ग्रसित हो जाते है तो आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं। आप मेथीदाना, अलसी आदि का सेवन कर सकते है।

Your immune system might be weaker if you are caught with diseases. You can eat fenugreek seeds, flax seeds.

Health Tips for Aayu App

इम्युनिटी कम रहने से होने वाले खतरे:

बार-बार संक्रमण होना या ऐलर्जी: अगर आपको लगता है कि आप दूसरों की अपेक्षा बार-बार बीमार होते है, जुकाम की शिकायत रहती है, खांसी, गला खराब होना या स्किन रैशेज जैसी समस्या रहती है तो हो सकता है कि आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो। कैंडिडा टेस्ट का पॉजिटिव होना, बार-बार यूटीआई, डायरिया, मसूड़ों में सूजन, मुंह में छाले होना भी खराब इम्यूनिटी के लक्षण है।

मौसम बदलते ही कई लोग बीमार हो जाते है। यह शरीर का तापमान कम होने की वजह से हो सकता है। मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए नॉर्मल ऑरल बॉडी टेंपरेचर 36.3 डिग्री से नीचे नहीं होना चाहिए क्योंकि सर्दी के वायरस 33 डिग्री पर सर्वाइव करते है। रोजाना एक्सरसाइज करने से आप अपनी बॉडी का तापमान और इम्यूनिटी बढ़ा सकते है साथ ही गर्माहट पैदा करने वाले मसाले जैसे लहसुन, अदरक, दालचीनी लौंग भी काम के है।

विटामिन-डी की कमी: विटमिन-डी इम्यूनिटी को बढ़ाता है और ज्यादातर लोगों में इसकी कमी होती है। अगर आपकी ब्लड रिपोर्ट में विटमिन-डी की कमी है तो आपको इसका लेवल सही करने की कोशिश करनी चाहिए। इसके अलावा लगातार थकान, आलस या ऐसे घाव जो लंबे वक्त तक ना भरें, नींद ना आना, डिप्रेशन और डार्क सर्कल भी कमजोर प्रतिरोधक क्षमता की निशानी है।

ऐसे कई फूड है जिन्हें पूरी रात भिगोकर रखने के बाद, अगले दिन खाना ज़्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि अंकुरित होने के बाद उनकी नुट्रिशन वैल्यू बढ़ जाती है, साथ ही यह आसानी से पच जाते है जो सेहत के लिए अच्छा है। आइये कुछ ऐसी चीज़ों के बारे में जाने जिनको रात में भिगोकर सुबह खाने से आपको फायदा होता है।

इम्यून सिस्टम बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ:

मेथीदाना: इनमें फाइबर्स भरपूर मात्रा में होते है जो कब्ज को दूर कर आंतों को साफ रखने में मदद करते है। डायबिटीज के रोगियों के लिए मेथीदाना फायदेमंद है साथ ही इनका सेवन महिलाओं में पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करता है।

खसखस: यह फोलेट, थियामिन और पैंटोथेनिक एसिड का अच्छा सोर्स है। इसमें मौजूद विटामिन-बी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है जिससे वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

अलसी: अलसी या फ्लैक्स सीड्स ओमेगा-3 फैटी एसिड का एकमात्र शाकाहारी सोर्स माना जाता है। अलसी का सेवन बेड कोलेस्ट्रॉल को घटाकर हमारे दिल को हेल्दी रखता है।

मुनक्का: इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम और आयरन काफी मात्रा में होते है। मुनक्के का नियमित सेवन कैंसर कोशिकाओं में बढ़ोतरी को रोकता है। इससे हमारी स्किन हेल्दी और चमकदार रहती है। एनीमिया और किडनी स्टोन के मरीजों के लिए मुनक्का फायदेमंद है।

खड़े मूंग: इनमें प्रोटीन, फाइबर और विटामिन-बी भरपूर मात्रा में होता है। इनका नियमित सेवन कब्ज दूर करने में फायदेमंद होता है। इसमें पोटेशियम और मैग्नेशियम भी भरपूर मात्रा में होने की वजह से हाई बीपी के मरीजों को रेगुलर खाने की सलाह देते है।

काले चने: इनमें फाइबर्स और प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा होती है जो कब्ज दूर करने में सहायक होते है।

बादाम: इसमें मैग्नीशियम होता है जो हाई बीपी के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। नियमित रूप से भीगी हुई बादाम खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है।

किशमिश: किशमिश में आयरन और एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते है। भीगी हुई किशमिश को नियमित रूप से खाने से स्किन हेल्दी और चमकदार बनती है साथ ही शरीर में आयरन की कमी दूर होती है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.