बीपी कंट्रोल करने के घरेलू नुस्खे | Daily Health Tip | 01 March 2020 | AAYU App

Home remedies of blood pressure

गर्मियों में कद्दू खाना चाहिए। इसे खाने से पेट बिल्कुल साफ रहता है और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल करता है। इसमें पोटैशियम और फाइबर अच्छी मात्रा में पाया जाता है। “

Eat Pumpkin in Summers. This keeps your stomach clean and helps to control blood pressure. It is good source of potassium and fibre. ”

Health Tips for Aayu App

लो ब्लड प्रेशर के लक्षण:

लो ब्लड प्रेशर या निम्न रक्तचाप को मेडिकल की भाषा में हायपोटेंशन कहा जाता है। किसी व्यक्ति के ब्लड प्रेशर की रीडिंग 90 और 60 से कम है तो वह लो बीपी वाले लोगों की श्रेणी में आता है। कम ब्लड प्रेशर से दिल की बीमारी भी हो सकती है, क्योंकि ब्लड फ्लो सीधे तौर पर दिल की पंपिंग की क्रिया पर निर्भर करता है। ऐसे में धमनी (Artery) में किसी प्रकार की दिक्कत ब्लड पंप में परेशानी खड़ी कर सकती है, जिससे शरीर के अंगों तक पर्याप्त खून नहीं पहुंच पाता।

लो ब्लड प्रेशर के निम्न लक्षण हैं।

  • चक्कर आना
  • आँखों के सामने अँधेरा छाना
  • धुंधला दिखाई देना
  • उल्टी जैसा होना
  • थकान होना
  • ध्यान लगाने में परेशानी होना
  • हाथ पैर ठंडे होना
  • चेहरा सफेद पड़ना
  • सांस लेने में दिक्कत होना
  • खाने में परेशानी होना

लो ब्लड प्रेशर से बचाव:

बीपी से बचने के लिए कुछ सावधानी बरतें

  • खाने में नमक की मात्रा बहुत कम न रखें। शरीर में बीपी को नियंत्रित रखने के लिए नमक बहुत सहायक है।
  • दिनभर में आठ ग्लास पानी या किसी तरह का लिक्विड ले जिससे शरीर हाइड्रेट बना रहे।
  • झटके से नीचे से ऊपर की और उठने से बचें
  • दवाई डॉक्टर की सलाह पर ही लें। अगर किसी ड्रग से रिएक्शन हो जाता है तो बीपी गड़बड़ी हो जाती है
  • सिगरेट व शराब का सेवन ना करें
  • खाने में सब्जियों और फलों को ज़्यादा शामिल करें

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण:

हाई ब्‍लड प्रेशर के लक्षणों को समझना मुश्‍किल होता है, क्‍योंकि यह तभी सामने आते हैं जब स्‍थिति गंभीर हो जाती है। हाई बीपी के मुख्यतः 4 लक्षण हैं।

सिरदर्द:

आज की जिंदगी में सिरदर्द बहुत आम समस्‍या है। यह ठंड, तनाव और डिहाईड्रेशन की वजह से हो सकता है। मगर बार-बार उठने वाला गंभीर सिरदर्द हाईपरटेंशन का शुरुआती लक्षण हो सकता है। पानी पीने और आराम करने से सिरदर्द में राहत मिलती है। बीपी हाई हो या लो, दोनों में ही सिरदर्द होता है। जितना गंभीर हाईपरटेंशन होगा, उतना ही गंभीर सिरदर्द भी होगा। खतरनाक स्‍तर का हाईपरटेंशन होने से हार्ट स्‍ट्रोक भी हो सकता है। 

मितली (Nausea)आना:

ब्‍लड प्रेशन में अचानक बदलाव आने से मितली की शिकायत हो सकती है। दरअसल, ब्‍लड प्रेशर में बदलाव का असर पाचन तंत्र (Digestive System) पर भी पड़ता है। कुछ लोगों को लगता है कि उनका पेट खराब हो गया है। बीपी में उतार-चढ़ाव से यह समस्‍या हो सकती है, जिससे मितली या उल्‍टी आ सकती है। 

सीना आना:

तनाव से ब्‍लड प्रेशर बढ़ता है। इससे पैनिक अटैक या चिंता (Anxiety) भी हो सकती है। इस तरह के हाई बीपी में काफी ज्‍यादा पसीना आता है या नसों में झनझनाहट महसूस होने लगती है। यह लक्षण शरीर में एडरिनेलाइन रसायन (Adrenaline Gland)के स्‍तर में तेज उतार-चढ़ाव की वजह से हो सकता है। 

सांस घुटना:

सांस लेने में परेशानी महसूस होना भी ब्‍लड प्रेशर बढ़ने का संकेत है। यह कार्डियोवास्‍कुलर सिस्‍टम (Cardiovascular System) में उतार-चढ़ाव के कारण हो सकता है। दिल शरीर में खून का संचार करने के लिए जिम्‍मेदार होता है। इसके जरिए फेफड़ों में पहुंचने वाले खून की सफाई भी होती है। जब बीपी बढ़ जाता है, तो सर्कुलेशन गड़बड़ा जाता है। इसी की वजह से सांस लेने में तकलीफ होती है।

हाई ब्लड प्रेशर का इलाज:

हाई ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए कुछ घरेलू नुस्खे हैं जो उन्हें इस समस्या से निजात दे सकते हैं। आइये जानते है इन घरेलु नुस्खों के बारे में:

  • लहसुन की 2 कली सुबह खाली पेट पानी के साथ चबाकर खाएं। अगर आपको लहसुन चबाने में परेशानी होती है तो लहसुन के रस की 5-6 बूंद 20 मिली पानी में मिलाकर पिएं।
  • एक चम्मच मेथी और अजवाइन पाउडर को पानी में भिगोकर रख दें और फिर सुबह इस पानी को पी लें।
  • 20 ग्राम त्रिफला को पानी में भिगो कर रातभर के लिए रख दें, फिर सुबह इस पानी को छानकर उसमें 2 चम्मच शहद मिलाकर पिएं।
  • हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को अपनी जीवनशैली में बदलाव करना भी जरूरी है। सोने से लेकर योग करने तक का समय निश्चित रखें।
  • हफ्ते में 3-4 बार पूरे शरीर पर तेल से मालिश कराएं, इससे रक्त संचार बेहतर होता है।
  • तनाव को दूर करने के लिए प्राणायाम करें।
  • हाई ब्लड प्रेशर वालों को भोजन में नमक की मात्रा कम ही रखनी चाहिए।
  • दूध में हल्दी और दालचीनी मिलाकर पिएं।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें


Leave a Reply

Your email address will not be published.