हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण, उपाय और इलाज

high blood pressure

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) बहुत आम समस्या है। ज्यादातर लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते जिस वजह से लोग आसानी से इसका शिकार बन जाते है। लगभग हर 8 में से 1 व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर के शिकार होते है। हाई ब्लड प्रेशर का सामान्य स्तर 120-80 एमएमएचजी है। कई बार लोगों को इसे सामान्य करने के लिए गोलियां खानी पड़ती है, लेकिन फिर भी वह इससे छुटकारा नहीं पा पाते। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की जानकारी देने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाते है।

लेकिन फिर भी कई बार लोगों को इस बीमारी की आवश्यक जानकारी नहीं होती और इसी कारण वह सही इलाज नहीं करवा पाते।

हाई ब्लड प्रेशर क्या है? (What is High Blood Pressure)

हाई ब्लड प्रेशर को हाइपरटेंशन भी कहते है, जो एक ऐसी स्थिति है, जिसमें दिल की धमनियों में रक्त का प्रवाह (Blood flow) तेज़ हो जाता है। यह समस्या ठीक हो सकती है, लेकिन अगर इसका इलाज काफी समय तक नहीं किया जाएं तो दिल का दौरा जैसी कई दिल संबंधी बीमारियाँ हो सकती है जिस वजह से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण (Symptoms of High Blood Pressure):

किसी भी दूसरी बीमारी की तरह हाई ब्लड प्रेशर के भी कुछ लक्षण है, जो शुरुआत का संकेत है।

लगातार सिरदर्द होना: हाई ब्लड प्रेशर का मुख्य लक्षण किसी व्यक्ति का लगातार सिरदर्द होना है। आमतौर पर सिरदर्द तनाव का परिणाम हो सकता है जिसके लिए आपको दवाई का सेवन करना पड़ सकता है। लेकिन अगर सिरदर्द लंबे समय तक रहता है तो यह हाई ब्लड प्रेशर का लक्षण हो सकता है।

थकान महसूस होना: हाई ब्लड प्रेशर का एक लक्षण बार-बार थकान महसूस होना है। यदि किसी व्यक्ति को कोई काम करने में थकान महसूस होती है तो उसे इस समस्या को नज़रअदाज़ नहीं करना चाहिए क्योंकि यह किसी गंभीर समस्या का लक्षण भी हो सकता है।

सीने में दर्द होना: अगर किसी व्यक्ति के सीने में दर्द होता है, तो वह यह बात अपने डॉक्टर को बताए और इलाज सही समय में शुरू करवाएं।

सांस लेने में तकलीफ होना: ऐसा देखा जाता है कि उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों को सांस लेने में तकलीफ होती है। इसी कारण यदि किसी व्यक्ति को अचानक से सांस लेने में तकलीफ होती है तो जांच करवा लेनी चाहिए।

दिल की धड़कनों का अनियमति गति से चलना: हाई ब्लड प्रेशर का एक लक्षण दिल की धड़कने अनियमित गति से चलना है। अगर किसी व्यक्ति को यह समस्या होती है तो वह इसकी सूचना अपने डॉक्टर को दें और सही समय में इलाज करवाएं।

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

Online Consultation through Aayu Card
Online Consultation through Aayu Card

हाई ब्लड प्रेशर के कारण (Causes of High Blood Pressure):

  • अगर आप हाइपरटेंशन के मरीज है और आप इसके लिए दवाएं ले रहे है तो डॉक्टर की सलाह लेकर ही दवाईयाँ लें। कई बार लोग जब ठीक महसूस करते है तब लोग दवाएं बीच में छोड़ देते है। जिसके परिणामस्वरूप आपका बीपी अचानक से बढ़ सकता है।
  • अचानक बीपी बढ़ने की एक वजह आहार भी हो सकता है। आप जो खाते है उसका सीधा असर बीपी पर पड़ता है। इसलिए आप अपने आहार में ऐसी चीजें लें जिनसे आपका बीपी हाई ना हो। इसके लिए आप आहार में नमक की मात्रा का विशेष ध्यान दें।
  • अगर आपको किडनी से जुड़ी कोई बीमारी है और आप उसके लिए दवाईयाँ लें रहे है, तो यह दवाईयाँ आपका बीपी अचानक से बढ़ा सकती है।
  • किसी खास रोग की दवा लेने से भी आपको हाई बीपी की शिकायत हो सकती है इसलिए अगर आप किसी भी तरह की दवाईयाँ ले रहे है और आपको बीपी की समस्‍या है तो अपने डॉक्‍टर को इसके बारे में बताएं।  
  • शारीरिक रूप से कम सक्र‍िय होना भी बीपी बढ़ने का कारण हो सकता है। सर्दियों के मौसम में कम सक्रिय होने से भी ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। ब्लड प्रेशर बढ़ने से स्ट्रोक, हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट का खतरा बढ़ सकता है।
  • सर्दियों के मौसम में कई बार तापमान कम होने के कारण भी ब्लड सेल्स यानि नसें सिकुड़ सकती है। इससे ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर क्यों होता है? (Why High Blood Pressure occur)

किसी भी व्यक्ति को हाई बीपी की बीमारी कई कारणों से हो सकती है। जिनमें से कुछ निम्नलिखित है।

  • धूम्रपान: हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी उन लोगों को ज्यादा होती है जो धूम्रपान करते है। इसलिए ऐसे लोगों को अपने स्वास्थ का विशेष ध्यान रखना चाहिए और यदि ऐसे लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होती है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और इलाज करवाएं।
  • वजन: मोटापे से कई तरह की बीमारियाँ होने का खतरा बढ़ जाता है। इससे हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी भी हो सकती है।
  • व्यायाम: किसी भी व्यक्ति के सेहतमंद रहने के लिए व्यायाम काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह शरीर की मांसपेशियों को मजबूत करने के साथ-साथ व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। यदि कोई व्यक्ति नियमित रूप से व्यायाम नहीं करता तो उनमें हाई ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर बीमारी के होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • खाने में ज्यादा नमक: यदि कोई व्यक्ति खाने में ज्यादा नमक खाता है, तो उन्हें हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी होने की संभावना होती है। इसलिए सभी लोगों को ऐसा भोजन करना चाहिए, जिसमें किसी भी चीज़ की मात्रा अधिक ना हो।
  • तनाव: तनावपूर्ण दौर में लोगों को काफी सारी बीमारियाँ हो सकती है। इनमें हाई ब्लड प्रेशर भी शामिल है, जो उन लोगों में अधिक देखने को मिलता है, जो ज्यादा तनाव लें सकते है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.