हड़जोड़ से करें टूटी हुई हड्डियों का इलाज, जानें कैसे?

pros of hadjod

हड़जोड़ हड्डियों से जुड़ा हुआ है। यह हड्डियों के लिए एक तरह की दवा है। यह पेट संबंधी समस्या, पाइल्स, ल्यूकोरिया, मोच, अल्सर आदि रोगों के उपचार में भी काम आता है। यह कई तरह की बीमारयों में भी लाभदायक है।

हड़जोड़ क्या होता है?

हड़जोड़ को अस्थि ( हड्डी ) जोड़ चूर्ण भी कहा जाता है। यह टूटी हुई हड्डियों को जोड़ने में मदद करता है। इसका पेड़ देखने में शृंखला जैसा लगता है, इसके पुराने तने पत्ते रहित होते हैं। यह हड्डियों संबंधित बिमारियों में मदद में आता है।

यह मीठा, कड़वा, तीखा, गर्म, छोटे-बड़े, रूखी, कफ को खत्म करने वाला, पाचक और  शक्ति से रहित होता है।हड़जोड़ पाइल्स, नेत्र से संबंधित रोग, मिरगी, घाव या अल्सर, या पाचन तथा दर्द को खत्म करने वाला होता है। इसमें ग्लूकोसाइड मिला होता है जो हृदय पर नकारात्मक (नेगेटिव) प्रभाव रखता है।

हड़जोड़ के कुछ फायदे:

हड़जोड़ के बारे में बात कर रहे थे चलिए जानते हैं कि हड़जोड़ हड्डियों के अलावा किन-किन बीमारियों में और कैसे काम करता है।

  • अस्थमा के इलाज में हड़जोड़ औषधि है रामबाण दवा:

हड़जोड़ अस्थमा जैसी जटिल बिमारियों में लाभदायक है। 5-10 मिली लीटर हड़जोड़ के रस को गुनगुना करके पिएँ इससे सांस में लाभ मिलता है। (और पढ़ें: PREVENT COLD IN ASTHMA सर्दी जुकाम के असर से अस्थमा मरीज को बचाएं )

  • पेट संबंधी समस्याओं में असरकारी है हड़जोड़:

पेट की समस्या का मुख्य कारण मसालेदार खाना खाना और असमय खाना खाना है। यह घरेलू इलाज में बहुत मददगार है। 5-10 मिली हड़जोड़ पत्ते के रस में शहद मिलाकर पिएँ यह पाचन क्रिया ठीक रखता है तथा पेट संबंधित समस्याओं में आराम देता है। (और पढ़ें: पेट में गैस की समस्या से परेशान जाने उपाय )

  • पाइल्स (बवासीर) से राहत दिलाएं हड़जोड़:

ज्यादा मसालेदार और तीखा खाने से आपको पाइल्स की बीमारी हो सकती है। इसमें हड़जोड़ घरेलू उपाय की तरह साबित होता है । (और पढ़ें: बवासीर से पाएं निजात)

  • जेनिटल पार्ट्स (सेक्सुअल पार्ट्स)में घाव होने पर हड़जोड़ है फायदे:

अगर आपके जेनिटल पार्ट्स (सेक्सुअल पार्ट्स) में घाव हो जाता है पर घाव में दर्द नहीं होता तो आप हड़जोड़ का उपयोग कर सकते है। 1/2 भाग हड़जोड़, 1/4 भाग दालचीनी तथा 2 भाग शक्कर का चूर्ण बनाकर 14 दिनों तक दूध के साथ सुबह शाम सेवन करें। इससे जेनिटल पार्ट्स में लाभ होता है। (इस दौरान तेल, अम्ल या एसिडिक फूड तथा नमक रहित आहार लें।) हड़जोड़ के तने के रस का लेप करें या तने के रस का सेवन करें इससे जेनिटल पार्ट्स में घाव आदि रोगों में लाभ मिलता है।

  • डिलीवरी के बाद के दर्द से राहत दिलाएं हड़जोड़:

हड़जोड़ के तने एवं पत्तों को पीसकर लेप करने से डिलीवरी के दर्द में आराम मिलता है।

  • ल्यूकोरिया में हड़जोड़ के फायदे:

महिलाओं में अक्सर योनि से सफेद पानी निकलने की समस्या होती है। सफेद पानी का स्राव अत्यधिक होने पर कमजोरी होती है। इसमें हड़जोड़ का सेवन फायदेमंद होता है। 5-10 मिली हड़जोड़ के रस का सेवन करें यह सफेद पानी की समस्या में लाभ देता है।

  • गठिया के दर्द से राहत दिलाएं हड़जोड़:

ऐसा देखा गया है कि उम्र बढ़ने के साथ जोड़ों में दर्द होने की परेशानी शुरू हो जाती है लेकिन हड़जोड़ का सेवन करने से गठिया के दर्द में आराम मिलता है। एक भाग छिलका रहित तना तथा आधा भाग उड़द की दाल को पीसकर, तिल के तेल में छाने, इससे गठिया में राहत मिलती है। 15 दिनों तक हड़जोड़ का खाने के रूप में सेवन करने से हड्डियों के टूटने में जल्दी लाभ मिलता है।

  • हड्डियों को जोड़ने में फायदेमंद है हड़जोड़:

हड्डियों को जोड़ने में हड़जोड़ लाभकारी है लेकिन इसे सही तरीके से इस्तेमाल करें।

  • रीढ़ की हड्डी के दर्द से राहत दिलाने में फायदेमंद है हड़जोड़:

अगर रीढ़ की हड्डी के दर्द से परेशान हैं तो हड़जोड़ का औषधीय गुण बहुत फायदेमंद है। हड़जोड़ के पत्तों को गर्म करके सिंकाई करने से दर्द कम होता है।

  • मोच का दर्द कम करें हड़जोड़:

अगर मोच आने पर दर्द कम नहीं होता तो हड़जोड़ का घरेलू उपाय बहुत लाभकारी होता है। हड़जोड़ स्वरस में तिल का तेल मिलाकर, पकाकर, छानकर लगाने से मोच में लाभ मिलता है।

  • घाव में फायदेमंद हड़जोड़:

कभी-कभी अल्सर का घाव सूखने में बहुत देर लग जाती है या फिर सूखने पर दूसरा घाव निकल जाता है, ऐसे में हड़जोड़ का प्रयोग बहुत फायदेमंद होता है। जले हुए घाव अथवा कीट के काटने पर घाव में हड़जोड जड़ के रस का लेप फायदेमंद होता है।

  • पाचन शक्ति बढ़ाता है हड़जोड़:

हड़जोड़ में कार्मिनेटिव गुण होता है जिस वजह से यह पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। यह एक डाईजेस्टिव की औषधि है और इसके सेवन से भूख बढ़ती है। इसकी अधिक जानकारी के लिए नजदीकी आयुर्वेदिक चिकित्सक से संपर्क करें। 

  • ब्लीडिंग कम करें हड़जोड़:

अगर कटने या छिलने पर ब्लीडिंग कम नहीं हो रही है तो हड़जोड़ का प्रयोग लाभकारी होता है। हड़जोड़ रक्तस्राव को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा 2-4 मिली तने और जड़ के रस को पीने से दंत से रक्तस्राव, नासिका से रक्तस्राव तथा बवासीर के समय में खून आना आदि में काम आता है।

  • शरीर के दर्द से आराम दिलाये हड़जोड़:

हड़जोड़ का सेवन बदन दर्द को ठीक करने में कारगर है। इसमें दर्दनिवारक गुण होते हैं जिस वजह से इसका उपयोग करने पर कुछ देर में दर्द से आराम मिल जाता है। इसके लिए सोंठ, काली मिर्च तथा हड़जोड़ का पेस्ट (1-2 ग्राम) का सेवन करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.