ड्राई आई की समस्या, जानें इसके कारण

ड्राई आई सिंड्रोम Dry eye syndrome

ड्राई आई (Dry eye) की समस्या बहुत आम है। आँखों में होने वाली ऐसी समस्या को ड्राई आई सिंड्रोम (dry eye syndrome) कहते है। इस समस्या में हमारी आँखें पर्याप्त मात्रा में आँसू नहीं बना पाती है। इसलिए आज हम आपको ड्राई आई सिंड्रोम (dry eye syndrome) के बारे में बताएंगे।

ड्राई आई के लक्षण (Symptoms of dry eye):

शुष्क आँखें और ड्राई आई सिंड्रोम (dry eye syndrome) के लक्षणों में शामिल हैं:

  • जलन की अनुभूति करना
  • आंखों में इचिंग(जलन)
  • खुजली संवेदनाएँ
  • आँखें भारी होना
  • थकान-भरी आँखें
  • कष्ट भरी आँखें
  • आँखों में सूखापन
  • लाल आँखें होना
  • फोटोफोबिया (प्रकाश संवेदनशीलता)
  • धुंधली दृष्टि  

एक अन्य और लक्षण है। बाहरी शरीर की अनुभूति। वह अनुभव जो ग्रिट या किसी अन्य वस्तु या सामग्री के कारण आंख में हो रहा है।

आँखों में पानी आना ड्राई आई सिंड्रोम का लक्षण (dry eye syndrome) हो सकता है ऐसा इसलिए क्योंकि कभी-कभी आँख की सतह पर सूखापन एक सुरक्षात्मक तंत्र के रूप में आपके आँखों में पानी के जैसे घटक के उत्पादन को उत्तेजित करता है।लेकिन यह “रिफ्लेक्स टेयरिंग” आँख की स्थिति को ठीक करने के लिए आँख पर लंबे समय तक प्रभाव नहीं करता है।   

इन लक्षणों के अलावा, शुष्क आँखे आँखों में सूजन (swollen in eyes) और आँख की सतह को नुकसान पहुँचा सकती हैं ।

ड्राई आई सिंड्रोम लेसिक (LASIK) और मोतियाबिंद (Cataract) सर्जरी के परिणामों को प्रभावित कर सकता है।

ड्राई आई का उपचार और रोकथाम (Treatment and prevention of dry eye):

अगर आप क्रोनिक ड्राई आई (Chronic dry eye) से पीड़ित है। कृत्रिम आँसू (आर्टिफिशल ऑय ड्रॉप्स) का नियमित उपयोग और मामूली आदतों में सुधार शुष्क आँखों के लक्षणों को काफी कम कर सकता है । आपके नेत्रों में अधिक आँसू बनाने और उनके स्रावित करने हेतु तथा आँखों की ज़लन और सूज़न को कम करने में मदद करने के लिए आपके नेत्र चिकित्सक आपको नेत्रों की दवाओं को लेने की सलाह दे सकता है।

ड्राई आई होने के कारण (Causes of Dry eye):

आँखों को मॉइश्चर की आवश्यकता: यदि आप अपनी आँखों को मॉइश्चराइज करेंगे तो वह आरामदायक स्थिति में रहेंगी और फिर जैसे आप काम करना चाहेंगे वैसे आप कर पाएंगे परंतु किसी घटिया क्वालिटी के मॉइश्चराइजर का प्रयोग ना करें अन्यथा आप की आँखें और खराब हो जाएगी।

ड्राई आई सिंड्रोम: इसके पीछे का कारण है आप की आँखें पर्याप्त पानी नहीं बना पाती। इसे ड्राई आई सिंड्रोम कहते है। इनके लक्षणों के आधार पर यह स्वयं ही कुछ दिनों बाद ठीक हो जाता है। 

उम्र बढ़ना: आप का ग्लैंड जो आंसू बनाता हैं समय के साथ-साथ काम करना काम करना कम कर देता हैं। आप की आँखें मॉइश्चराइज नहीं रह पातीं और दिन के साथ ड्राई होने लगती हैं। यह कारण बहुत आम है और अक्सर बूढ़े लोगों में देखने को मिलता है। 

किसी तरह की बीमारी: किसी तरह के ऑटो इम्यून बीमारी के कारण ऐसा होना सम्भव है। जब आप का इम्यून सिस्टम आप के शरीर पर अटैक करता है तो आप की आँखों में आंसू बनने की क्षमता कम हो जाती है और इस वजह से आप की आँखें ड्राई हो जाती हैं। 

मोतियाबिंद सर्जरी: यदि आप को कभी मोतियाबिंद आदि निकलवाने के लिए आई सर्जरी करवानी है, तो आपको ड्राई आई परेशानी में डाल सकती है। इस प्रक्रिया के दौरान आप के आंसूं बनाने वाली ग्लैंड क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। जिसकी वजह से आप की आंखे में आंसू नहीं बन पाते।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है।अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐप डाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ  डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.