सावधान ! इस सीज़न में सक्रिय हो जाते हैं डेंगू के मच्छर, ऐसे करें बचाव

Dengue mosquito active in august-September

मच्छर कई बीमारियों की जड़ माने जाते हैं। डेंगू, मलेरिया और ज़ीका जैसी बीमारियों के वायरस की ये इंसानों तक होम डिलीवरी करते हैं। इंसान की तमाम कोशिशों के बावजूद, डेंगू , मलेरिया और मच्छरों (Dengue mosquito) की वजह से होने वाली दूसरी बीमारियाँ बड़ी तेज़ी से फैल रही हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े बताते हैं कि पिछले पचास सालों में डेंगू की बीमारी तीस गुना तक बढ़ गई है।

इस सीज़न में सक्रिय हो जाते हैं डेंगू के मच्छर

डॉक्टरों के मुताबिक इस सीज़न में यानी अगस्त-सितंबर-अक्टूबर में अगर किसी को शरीर में दर्द, थकान, भूख ना लगना, हल्का-सा रैश, लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्या हो, लेकिन बुखार की हिस्ट्री ना हो। तो वो डेंगू हो सकता है. इसलिए डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। उनके मुताबिक अगर मरीज़ सही समय पर प्लेटलेट्स चेक नहीं कराता, तो दिक्कत हो सकती है। अगर प्लेटलेट्स कम हो गए हैं तो ये ख़तरे की बात हो सकती है।

DENGUE और MALARIA ही नहीं, ये बीमारी भी मानसून में हो जाती है सक्रिय

कैसे पहचाने डेंगू को? (Dengue Fever)

डेंगू बुखार (Dengue Fever) को ‘हड्डीतोड़ बुखार’ के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इससे पीड़ितों को इतना अधिक दर्द होता है कि जैसे उनकी हड्डियाँ टूट गई हो। डेंगू (Dengue) एडिज मच्छर (Aedes Mosquito)  के काटने से होता है, इस बात से हर कोई वाक़िफ़ है।

क्‍या हैं बचाव के उपा (dengue treatment)

डेंगू से बचने के लिए डब्ल्यूएचओ ने दिए सुझाव

  • डब्ल्यूएचओ का कहना है कि मच्छरों से बचने के लिए पूरे शरीर को ढककर रखें और हल्के रंग के कपड़े पहनें.
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, ज़ीका वायरस के संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा उपाय है मच्छरों की रोकथाम.
  • मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर के आसपास गमले, बाल्टी, कूलर आदि में भरा पानी निकाल दें.
  • बुख़ार, गले में ख़राश, जोड़ों में दर्द, आंखें लाल होने जैसे लक्षण नज़र आने पर अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन और भरपूर आराम करें.
  • बिना बुखार के भी हो सकता है डेंगू, ‘एफेब्रिल डेंगू’ क्या है?

डेंगू से बचाव के उपाएं (Dengue Fever Prevention)

1. एडिज मच्छर दिन के समय काटता है. इसलिए दिन में भी मच्छरों की क्रीम लगाकर रखें.

2. मच्छरों वाली जगहों पर शरीर को ढक कर रखें.

खूब पानी पीएं (Drink plenty of water)

Drink plenty of water in Dengue Fever

डॉक्टर कहते हैं कि पानी पीना डेंगू का कारगर इलाज है। आपको माइल्ड डेंगू हो या सीवर डेंगू, अगर आप खूब पानी पीएंगे तो जल्दी ही ठीक हो जाएंगे।

पानी ना पीने या कम पीने की वजह से डेंगू बढ़ जाता है।  इसलिए इस बात का खास ध्यान रखें। पानी पीते रहने और आराम करने से कई बार डेंगू खुद ही ठीक हो जाता है।

आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 2015 में डेंगू के 15 हज़ार 867 मामले देखने को मिले थे।

आयु है आपका सहायक

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते आज विश्व टेलीमेडिसिन को अपना रहा है। भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी आमजन से टेलीमेडिसिन के साथ-साथ स्वदेशी अपनाने की बात कही है। भारत का नंबर वन हेल्थकेयर प्लेटफॉर्म आयु पर आप घर बैठे देश के सर्वश्रेष्ठ डॉक्टरों से इलाज़ और परामर्श पा सकते हैं। आज ही डाउनलोड करें स्वदेशी स्वास्थ्य ब्रांड आयु ऐप. हमेशा देश के बेहतर स्वास्थ के लिए अग्रसर |

Leave a Reply

Your email address will not be published.