क्या हैं एनीमिया के लक्षण, इसके कारण और बचाव | Daily Health Tip | 31 January 2020 | AAYU App

solution to anaemic condition

” खजूर ,मक्का ,बाजरे का आटा ,सरसो का साग 🥬,पालक ,मेथी आदि को डाइट में शामिल करे यह ऊर्जा बढ़ाने के साथ साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता व खून की कमी को दूर करने में भी मददगार होते है। ”

” Including Dates, Maize, Millet Flour, Mustard Greens, Spinach, Fenugreek in your diet helps you improve your immunity as well as protect you from anaemic condition also increases energy level.

एनीमिया रोग शरीर में खून की कमी की वजह से होता है। इसे रक्त अल्पता भी कहा जाता है। आमतोर पर पौष्टिक आहार न लेने और लिवर की गड़बड़ी के चलते यह रोग सामने आता है। रक्त में आयरन की कमी से भी यह रोग बढ़ता है। इसलिए इसके निदान के लिए डाइट में ऐसी चीज़े लेना चाहिए जो आयरन की कमी को दूर करे अपनी डाइट में पौष्टिक आहार लेना शुरू करें। इनमें हरी सब्जिया ,सूखे मेवे ,आयरन तत्त्व से भरपूर खाद पदार्थ। इसके अलावा ऐसी चीज़ों से परहेज़ करें जिससे लिवर के कामकाज पर विपरीत प्रभाव पड़ता हो।

👉 चुकंदर के इस्तेमाल से भी ऐनीमिया से लड़ा जा सकता है। चुकंदर में आयरन की भरपूर मात्रा पायी जाती है। चुकंदर में आयरन की भरपूर मात्रा पायी जाती है। इसे जूस ,सलाद के रूप में लिया जा सकता है।

👉 टमाटर में विटामिन-सी, विटामिन- ई और लइकोपिन पाया जाता है। इसके इस्तेमाल से भी शरीर में रक्त की कमी दूर होती है। टमाटर को आप सलाद के रूप में भी खा सकते है। इसका जूस या सूप बनाकर पीने से भी आपको वैसा ही फायदा मिलता है।

👉 एनीमिया होने पर मेथी, अजमोदा ,ब्रोकली ,पालक जैसी लोह तत्त्व से भरपूर सब्जियां भी असरदार साबित होती है। इन सब्जियों में विटामिन बी -12 और फोलिक एसिड मौजूद होते हैं ,जो शरीर में रक्त को बढ़ाते है। शहद में भी लोह तत्त्व की मात्रा अधिक होती है। इसलिए शहद को भी अपनी डाइट में लेना शुरू करें।

इनसे करे परहेज़ : इस दौरान आप चाय ,कॉफ़ी का इस्तेमाल ना करे। सोयाबीन ,मटर के इस्तेमाल से भी बचे। ज़्यादा चीनी युक्त खाद पदार्थ कम से कम खाये।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.