Covid-19 Vaccine भारत में खुले बाज़ार में आपको कब से मिलने लगेगी?

Covid-19 Vaccine

Covid-19 Vaccine: भारत में 16 जनवरी से कोविड-19 वैक्सीन टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो चुकी है। और भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय

द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार भारत में सिर्फ 19 दिनों में करीब 4.5 मिलियन लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) लग चुका है। अब तक में कुल 45,93,427 लोगों को टीका लग चुका है। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, प्राथमिकता के स्तर पर पहले तीन करोड़ स्वास्थ कर्मियों को फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोविड-19 वैक्सीन दी जा रही है। 

आम आदमी को कब तक मिलेगी कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine when will available for public)

आइए जानते हैं आखिर आम आदमी को कब मिलेगी कोविड-19 वैक्सीन 

एक न्यूज़ पेपर बिज़नेस स्टैंडर्ड की ख़बर के अनुसार, अभी तक टीकाकरण के लिए कम लोग आगे आए हैं इसलिए केंद्र सरकार मार्च या अप्रैल तक सामान्य बाज़ार में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) पलब्ध कराने पर विचार कर रही है। 

अख़बार के मुताबिक़, सरकार टीकाकरण की दर को बढ़ाना चाहती है इसलिए वो जल्द से जल्द बाज़ार में वैक्सीन उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है। 

इन टीकों की स्टेबिलिटी छह महीने है। यानी ये टीके छह महीने तक सुरक्षित रखे जा सकते हैं। अख़बार ने सूत्र के हवाले से लिखा है कि जनवरी महीने में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया के पास कोविड वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की क़रीब 10 करोड़ खुराक थीं। 

भारत ने अपने पड़ोसी देशों के साथ संबंधों को प्रगाण करते हुए कई पड़ोसी देशों को कोविशील्ड यानी कोरोना की वैक्सीन भेजी है। एक बड़ी चुनौती इन वैक्सीन को छह महीने के भीतर इस्तेमाल कर लेने की है।

कोविड-19 वैक्सीन लगाने में भारत सबसे आगे

भारत सिर्फ 18 दिनों में 4 मिलियन से ज्यादा लोगों को कोविड टीका लगाने वाला सबसे पहला देश है। तब जब कई अन्य देशों ने बहुत पहले टीकाकरण की शुरुआत की थी जबकि भारत ने 16 जनवरी 2021 को देशव्यापी कोविड टीकाकरण (Covid-19 Vaccine) अभियान शुरू किया। अमेरिका को 4 मिलियन लोगों को टिका लगाने में 20 दिनों का वक्त लगा, जबकि यूके और इजराइल को 39 दिन लगे। 

कितने हेल्थ केयर वर्करों को कोविड-19 वैक्सीन लगी 

भारत में कुल 96,31,637 हेल्थ केयर वर्कर हैं जिनमें सरकारी और प्राइवेट शामिल हैं। इनमें से 43,91,826 हेल्थ केयर वर्करों को टीका लग चुका है। 

वहीं एडवर्स इफेक्ट की कुल 8563 घटनाएँ रिपोर्ट हुई हैं जो कि कुल वैक्सीनेशन का 0.18% है। इनमें से सिर्फ 34 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी, जो कि अब तक हुई कुल वैक्सीनशन का 0.007% है। 

वैक्सीनेशन से किसी की अब तक मौत की पुष्टि नहीं हुई है। अब तक 19 ऐसे लोगों की मौत हुई है जिन्हें वैक्सीन लगा था, हालांकि उनकी मौत वैक्सीन लगने से हुई है ऐसी कोई पुष्टि उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट्स से नहीं हुई है। 

भारत में  5,912 सरकारी और 1,239 प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन हुआ है। 13 ऐसे राज्य हैं जहां वैक्सीनेशन 50 फीसदी से ज्यादा है। ये राज्य है मध्य प्रदेश, राजस्थान, त्रिपुरा, मिज़ोरम, लक्षद्वीप, ओडिशा, केरल, हरियाणा, बिहार, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश। 

ये भी पढ़ें-

डिस्क्लेमर-

भारत में कोरोना का वैक्सीनेशन तो शुरु हो गया लेकिन आज भी हम-तुम आज नागरिक का सवाल है कि आखिर Covid-19 Vaccine भारत में खुले बाज़ार में कब से मिलने लगेगी? आज इस लेख में हमने भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट्स और आंकड़ों की जानकारी दी हैं। हमें उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आएगा। अगर आपका इस विषय पर कोई सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

हमें आपके सुझावों का बेसब्री से इंतजार है। आयु ऐप पर विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा सुझाई रोज़ाना सेहत की नई बात और स्वास्थ्य वीडियो पोस्ट किया जाता है। इसलिए घर बैठे ऑनलाइन सेहत की बात और डॉक्टर से ऑनलाइन परामर्श पाने के लिए डाउनलोड करें आयु ऐप।

Leave a Reply

Your email address will not be published.