fbpx

Covid-19 vaccine: मुझे कोवैक्सिन और कोविशिल्ड में से कौन सी वैक्सीन लेनी चाहिए? जानिए डॉ साकेत गोयल से वैक्सीन से संबंधित जानकारी

Covid-19 vaccine: मुझे कोवैक्सिन और कोविशिल्ड में से कौन सी वैक्सीन लेनी चाहिए? जानिए डॉ साकेत गोयल से वैक्सीन से संबंधित जानकारी

Covid-19 vaccine: भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बाद सरकार ने 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरु कर दिया है। शुरुआत में सिर्फ कोरोना वॉरियर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को ही कोविड-19 का टीका (Covid-19 vaccine) लगाया जा रहा था। हालांकि वैक्सीन का ट्रायल 12 साल के बच्चों पर भी किया गया है, जो सफल रहा है। वैक्सीनेशन के साइड- इफेक्ट के बाद लोगों के कोविड वैक्सीन को लेकर तरह तरह के सवाल आ रहे थे। इस लेख में सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ साकेत गोयल से जानिए कोविड वैक्सीन से संबंधित जानकारी

1. मुझे कौन सा वैक्सीन कोवैक्सिन-कोविशिल्ड लेना चाहिए? Covid-19 vaccine

दोनों में कोई ख़ास अंतर नहीं है और दोनों की अपनी कुछ विशेषताएं हैं। इसलिए जो भी जल्दी उपलब्ध हो उसे लगवा लें।  कोवैक्सिन की दूसरी खुराक 4 सप्ताह के अंतराल के बाद और कोविशिल्ड 6-8 सप्ताह के अंतराल के बाद ली जाती है।

2. टीकाकरण के बाद मुझे क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

ज्यादातर लोग वैक्सीन (Covid-19 vaccine) के बाद सामान्य रूप से काम करने में सक्षम हैं।  कुछ को हल्का बुखार और हाथ में दर्द हो सकता है।  आप आइस पैक लगा सकते हैं या टैब पेरासिटामोल का ले सकते हैं।  टीके के दिन अधिक तरल पदार्थ पीना याद रखें।

3. टीकाकरण के बाद मुझे कोरोना से  इम्यूनिटी कब मिलेगी?

कहा जाता है कि ज्यादातर लोग पहली खुराक के 2 सप्ताह बाद 50% प्रतिरक्षा प्राप्त करते हैं।  हालांकि  पूर्ण प्रतिरक्षा दूसरी खुराक के 2 सप्ताह बाद विकसित होती है।

4.क्या वैक्सीन (Covid-19 vaccine) दिल के मरीजों और मधुमेह के लिए सुरक्षित है?

हां … ये वही मरीज हैं जिन्हें कोरोना से बहुत ज्यादा खतरा है,  इसलिए उन्हें प्राथमिकता से टीका लगाया जाना चाहिए।

5. क्या मुझे कोरोना से पहले अपने दिल की दवाओं को रोकने की आवश्यकता है?

नहीं … एस्पिरिन / क्लोपिडोग्रेल / टीकाग्रेलोर …जैसे रूटीन ब्लड थिनर सहित आपकी सभी दवाओं को जारी रखा जाना चाहिए।  केवल एंटीकोआगुलंट्स जैसे एसिट्रोम / वारफारिन / रिवोरोकसाबैन आदि के रोगियों को टीकाकरण से पहले चिकित्सा सलाह लेने की आवश्यकता होती है।  वे भी रक्त परीक्षण के बाद वैक्सीन ले सकते हैं (जरूरत पड़ने पर 1-2 दिनों के लिए दवा रोक सकते हैं)।

6. कोविड संक्रमण के कितने समय बाद मुझे वैक्सीन की खुराक लेनी चाहिए?

कोविड संक्रमण के बाद वैक्सीन लेने  में न्यूनतम अंतराल 8 सप्ताह होना चाहिए।  मेरा सुझाव हैं कि सभी युवा कोविड रोगियों को इस अवधि में प्लाज्मा डोनेट करना चाहिए।

7. क्या वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद आप वायरस से पूरी तरह सुरक्षित हो जाएंगे ?

वैक्सीन के दोनों टीके (Covid-19 vaccine) लगने के दो हफ्ते बाद उनका पूरा प्रभाव काम करने लगता है। फिर भी, पक्के तौर पर यह नहीं कहा जा सकता कि अब कोविड-19 वायरस आपको संक्रमित नहीं कर पाएगा। दरअसल, भारत में लगाई जा रही वैक्सीन की प्रभावकारिता अधिकतम 80 फीसदी तक ही है. यानी 100 में से 20 लोगों के लिए वैक्सीन लगने के बाद भी कोरोना संक्रमित होने का खतरा बना रहेगा।

8.अगर वैक्सीन इंफेक्शन से पूरी सुरक्षा नहीं देती तो इसे लगवाने का क्या लाभ ? 

आपके मन में यह सवाल आ सकता है कि जब वैक्सीन (Covid-19 vaccine) लगवाने के बाद भी संक्रमित होने का खतरा पूरी तरह खत्म नहीं होता, तो इसे क्यों लगवाया जाए? इस सवाल का एक जवाब तो यह है कि अगर वैक्सीन से 80 फीसदी सुरक्षा मिलती है, तो भी यह फिलहाल आपके सामने महामारी से बचने का सबसे बेहतर उपाय है। टीका लगवाने के पक्ष में दूसरा अहम कारण यह है कि वैक्सीन लगवाने के बाद अगर कोविड-19 संक्रमण हो भी जाए, तो भी बीमारी के लक्षण ज्यादा गंभीर नहीं होते। ऐसे मरीज जल्दी ठीक हो जाते हैं। 

9. क्या वैक्सीन का पहला टीका आपको कोविड-19 वायरस से बचा लेगा ? 

इस सवाल का सीधा जवाब है, नहीं। वैक्सीन (Covid-19 vaccine) का पहला टीका लगने के साथ ही आप कोविड-19 वायरस के इंफेक्शन से सुरक्षित नहीं हो जाएंगे। वैक्सीन का पूरा प्रभाव दोनों इंजेक्शन लगने के बाद ही सामने आता है। वह भी दूसरा टीका लगने के फौरन बाद नहीं, बल्कि उसके करीब दो हफ्ते बाद।

10. क्या वैक्सीन लगवाने के बाद भी मास्क पहनना जरूरी है ?

बिल्कुल, वैक्सीन (Covid-19 vaccine) लगवाने के बाद भी मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने या दूसरों से सुरक्षित दूरी बनाए रखने जैसे नियमों का पालन जारी रखना चाहिए। क्योंकि कोरोना वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी यानी प्रतिरोधक क्षमता विकसित होने के लिए वैक्सीन के दोनों इंजेक्शन लगने के बाद दो हफ्ते तक इंतजार करना पड़ता है। उसके बाद भी अब तक भारत में लगाए जा रहे टीके संक्रमण से अधिकतम 80 फीसदी तक ही बचाव करते हैं।

11. वैक्सीन लगने के बाद होने वाले सामान्य साइड इफेक्ट है?

वैक्सीन का इंजेक्शन लगने के बाद थोड़ी-बहुत परेशानी होना आम बात है। टीका लगने वाली जगह पर दर्द, सूजन या लाली आना, हल्का बुखार, सिर दर्द, मामूली कमजोरी या जोड़ों में हल्का दर्द होना टीके का सामान्य साइड इफेक्ट हैं, जो कुछ दिनों में ठीक हो जाता है। अधिक समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श ले लेना चाहिए। 

 

Dr Sanket Goyal

ये भी पढ़ें

How to increase the oxygen level: घर पर ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने 7 आसान उपाय

Oxygen shortage: खून में ऑक्सीजन बढ़ाने के लिए क्या खाएं, जानें शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन

Pulse Oximeter: कैसे चेक करें पल्स रेट, जानिए, ऑक्सीमीटर इस्तेमाल करने का सही तरीका

Covid-19 Home management:अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए घ

पुरुषों का14 और महिलाओं का 12 से कम हीमोग्लोबिन होना कमजोर इम्युनिटी का लक्षण

 

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )