covid 19 coronavirus vaccine : जानिए क्या है दुनियाभर में बन रही कोरोना वैक्सीन का स्टेटस?

covid 19 coronavirus vaccine status

COVID-19 coronavirus vaccine: कोरोनावायरस वैक्सीन (Coronavirus vaccine) को लेकर दुनियाभर में कितनी वैक्सीन पर रिसर्च चल रही है। WHO वैक्सीन लैंडस्कैप के मुताबिक दुनिया में 216 कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है, इनमें से 163 प्री-क्लिनिकल ट्रायल्स में हैं, वहीं 53 वैक्सीन क्लिनिकल ट्रायल्स में हैं।

1. कहां कितनी वैक्सीन पर चल रहा है काम?

(ii) भारत के स्वदेशी वैक्सीन समेत 5 वैक्सीन अंतिम दौर में

  1.  भारत बायोटेक का कोवैक्सिन (भारत) (Bharat Biotech Covaxin)
  2. जैनसेन फार्मा (अमेरिका) (Janssen: Pharmaceutical Companies of Johnson & Johnson)
  3. नोवावैक्स (अमेरिका) (Novavax vaccine)
  4. मेडिकार्गो (कनाडा)
  5. अनहुई झिफेई लॉन्गकॉम बायोफार्म्सुयिटकल (चीन)

 212 वैक्सीन बन रहे हैं दुनियाभर में

स्टेज     (Stage)  वैक्सीन  (Vaccine)
प्री क्लिनिकल ट्रायल्स     163
क्लिनिकल फेज 1 में 23
क्लिनिकल फेज 2 में    16
क्लिनिकल फेज 3 में    7
इमरजेंसी अप्रूवल  7
चीन ने 4, रूस ने 2 और Uk ने 1 वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल दिया है। 

1. ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी/एस्ट्राजेनेका

वैक्सीन नाम –   कोवीशील्ड ChAdox1-s

नॉन रेप्लिकेटिंग वायरल वेक्टर – ब्रिटेन और ब्राजील के अंतिम फेज के ट्रायल्स के शुरुआती नतीजों में वैक्सीन 90% तक इफेक्टिव रही है इसे सीरम इंस्टिट्यूट बना रहा है। भारत में ट्रायल्स जनवरी तक चलेंगे। 

2. फ़ाइज़र और बायोएनटेक 

कोविड-19 की अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर और जर्मन कंपनी बायोएनटेक की जॉइंट कोरोना वैक्सीन फेज-3 ट्रायल में 95% असरदार साबित हुई है। UK में इस वैक्सीन को 2 दिसंबर को इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया है। इसी तरह का अप्रूवल कंपनी ने यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (USFDA) को भी दिया है।

3. मॉडर्ना  (Moderna corona vaccine) 

मॉडर्ना की कोविड-19 वैक्सीन (Moderna covid-19 vaccine)   कोरोना के मरीज़ों को बचाने में 94.5% तक असरदार है। यह दावा लास्ट स्टेज क्लिनिकल ट्रायल के नतीजों के आधार पर किया गया है। यह वैक्सीन 2 से 8 डिग्री सेल्सियस तापमान में 30 दिन तक सुरक्षित रह सकती है। कंपनी इस समय UK, अमेरिका और यूरोपीय संघ में इमरजेंसी अप्रूवल हासिल करने के लिए कोशिश कर रही है।

4. गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट (रूस) 

रूसी वैक्सीन स्पूतनिक v ट्रायल के परिणाम कोरोनावायरस से लड़ने में 95% असरदार रहे हैं। वैक्सीन स्पूतनिक V ट्रायल के क्लिनिकल ट्रायल के दूसरे शुरुआती एनालिसिस में ये बात सामने आई है। पहला डोज देने के 28 दिन बाद इस वैक्सीन ने 91.4% इफेक्टिवनेस दिखाई थी। डॉ. रेड्डी’ज लैबोरेटरी के साथ रूसी संस्था का करार हुआ है और भारत में फेज-2/3 के कम्बाइंड ट्रायल्स शुरू हो गए हैं।

2. भारत के स्वदेशी वैक्सीन समेत 5 वैक्सीन अंतिम दौर में

1. भारत बायोटेक का कोवैक्सिन (भारत)

भारत की स्वदेशी वैक्सीन- कोवैक्सिन का फेज-3 के ट्रायल्स शुरू हो गए हैं। करीब 25 साइट्स पर यह ट्रायल्स हो रहे हैं। इस वैक्सीन को हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक ने नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरलॉजी (NIV) और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर तैयार किया है। 

2. जैनसेन फार्मा (अमेरिका) (Janssen Pharma)

अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन की सब्सिडियरी जैनसेन फार्मा का इनएक्टिवेटेड वैक्सीन फेज-1/2 ट्रायल्स में असरदार साबित हुआ है। 60 हजार लोगों पर इसका अंतिम फेज का ट्रायल्स चल रहा है।

3. नोवावैक्स (अमेरिका) (Novavax vaccine)

अमेरिका की ही कंपनी नोवावैक्स के वैक्सीन का इंतजार भी अमेरिका में बेसब्री से हो रहा है। कंपनी ने पुणे के सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया में वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग का करार किया है।

4. मेडिकार्गो (कनाडा)

कनाडा के ड्रग डेवलपर मेडिकार्गो ने भी फेज-2/3 कम्बाइंड ट्रायल्स शुरू किए हैं। शुरुआती स्टेज में कंपनी के वैक्सीन और ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (GSK) के वैक्सीन बूस्टर ने वायरस को खत्म करने वाले एंटीबॉडी बनाने में कामयाबी हासिल की है। मेडिकार्गो को मित्सुबिशी तनाबे फार्मा और टोबैको जायंट फिलिप मॉरिस का सपोर्ट मिला हुआ है।

5. अनहुई झिफेई लॉन्गकॉम बायोफार्म्सुयिटकल (चीन)

चोंगकिंग झिफेई बायोलॉजिकल प्रोडक्ट्स की एक यूनिट की ओर से विकसित वैक्सीन के ट्रायल्स की शुरुआत जून में ही हो गई थी। इस वैक्सीन को अनहुई झिफेई लॉन्गकॉम बायोफार्मास्युटिकल्स और चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंस ने बनाया है।

16 कंपनियों के ट्रायल्स दूसरे फेज में, लेकिन 3 हमारे काम के

1. कैडिला हेल्थ केयर (जाइडस कैडिला)

इस समय 16 कंपनियों के ट्रायल्स दूसरे फेज में है। लेकिन इनमें भी अहमदाबाद की कंपनी कैडिला हेल्थकेयर समेत 3 कंपनियां दूसरे फेज में हैं। बाकी 13 कंपनियों के वैक्सीन के फेज-1 और फेज-2 के ट्रायल्स एक साथ चल रहे हैं। दवा निर्माता कैडिला हेल्थ केयर लिमिटेड (जाइडस कैडिला) वैक्सीन के नतीजे जल्द ही सामने आएँगे। उम्मीद की जा रही है कि अप्रैल-2021 तक यह वैक्सीन भी उपलब्ध हो जाएगा।

NOTE : कंपनियों के वैक्सीन और उनके अपडेट्स WHO की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई जानकारी के आधार पर है।

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.