पूरी आबादी के लिए जरूरी नहीं कोरोना का वैक्सीनेशन ! Coronavirus Vaccination

Coronavirus Vaccination in India

Vaccination in India: कोरोना वायरस वैक्सीनेशन (Coronavirus Vaccination) के दौरान 2 वॉलंटियर्स के साथ हुई घटना के बाद लोगों में वैक्सीन को लेकर भय और संकोच बढ़ रहा है। इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कहा कि सरकार का कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को प्रत्येक व्यक्ति को देने का कोई इरादा नहीं है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा, “वैक्सीन के प्रति डर एक अंतर्निहित मुद्दा है, जिसका प्रतिकूल घटनाओं से कोई लेना-देना नहीं है। आबादी का एक वर्ग सोचता है कि इसे टीकाकरण (Coronavirus Vaccination in India) की आवश्यकता नहीं है।”

कोरोनावायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोकना होगा

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक (डीजी) प्रो. बलराम भार्गव ने भी कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि पहले जनसंख्या के एक बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन करके वायरस (Corona vaccination) की श्रृंखला को तोड़ा जाए। उन्होंने कहा, “हमारा उद्देश्य कोरोनावायरस (Coronavirus) की श्रृंखला (chain of viruses) को तोड़ना है। अगर हम थोड़ी आबादी(Critical mass) को वैक्सीन (Vaccine) लगाकर कोरोना ट्रांसमिशन (Corona transmission)  रोकने में कामयाब रहे, तो शायद पूरी आबादी को वैक्सीन लगाने की जरूरत न पड़े।”

कोरोना को हराने के लिए वैक्सीन का इंतजार क्यों ?

  1. हर्ड इम्यूनिटी के बिना कोरोनावायरस को हराना नामुमकिन
  2. वैक्सीन से शरीर में इम्यूनिटी बढ़ेगी और उसका खतरा घटेगा। 
  3. वैक्सीन का कवरेज बढ़ेगा तो ही देशों में बनेगी हर्ड इम्यूनिटी

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने ताया कि सरकार टीका (Coronavirus Vaccination in India in hindi) प्रशासन के बारे में विस्तृत दिशा-निर्देश तैयार कर रही है, जो अगले दो सप्ताह के भीतर सामने आ सकता है। भूषण ने कहा, “दिशानिर्देशों में वर्णित मुद्दों में से एक टीका सुरक्षा के पहलू से संबंधित है।

हमारा उद्देश्य लोगों को यह बताना है कि किसी व्यक्ति को और बड़े स्तर पर वैक्सीन लेने का क्या प्रभाव और लाभ होगा।”

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.