fbpx
Latest health updates:  कोरोना ही नहीं, डायरिया, निमोनिया और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचने के लिए भी जरूरी है ये ख़ास उपाय

Latest health updates: कोरोना ही नहीं, डायरिया, निमोनिया और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचने के लिए भी जरूरी है ये ख़ास उपाय

कोरोना वायरस का संक्रमण ही नहीं बल्कि इस मौसम में डायरिया, निमोनिया और बैक्टीरिया के संक्रमण से दूर रहना है तो भी हाथों को 20 सेकंड तक जरूर धोना चाहिए। हाथों को धोने के बाद एयर ड्रायर से मत सुखाएं, हाथ सुखाने और नल बंद करने के लिए टॉवेल का इस्तेमाल करें।

1. संक्रमण से बचने के लिए हाथों की सफाई है जरूरी

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हाथ ही सांस नली तक कीटाणु ले जाते हैं, इसलिए इसे जितना साफ रखें, उतना बेहतर है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और सीडीसी कहता है, संक्रमण खत्म करने के लिए हाथों को कम से कम 20 सेकंड तक धोना जरूरी है।

ब्रिटेन में हुई रिसर्च के मुताबिक, कोरोना के संक्रमण का खतरा 90 फीसदी तक घटाना है तो दिन में कम से कम 6 बार हाथ धोएं और मास्क लगाएं। गंदे हाथों से सबसे ज्यादा बीमारियां बच्चों में फैलती है, इनमें निमोनिया और डायरिया सबसे कॉमन है। वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट कहती है- हाथों को साफ न रखने के कारण दुनियाभर के देशों को 19 लाख करोड़ रुपए अतिरिक्त खर्च करने पड़ते हैं।

हाथ धोने के 4 फायदे-

  • पेट और सांस की बीमारियों का खतरा घटाने के लिए हाथों की सफाई जरूरी
  • सैनेटाइजर का अधिक इस्तेमाल से हाथों में दाने, खुजली और ड्रायनेस बढ़ सकती है
  • सिर्फ कोरोना ही नहीं कई खतरनाक वायरस और बैक्टीरिया से भी बचाव होगा
  • दिन में 6 बार हाथों को साबुन से धोते हैं तो कोरोना का खतरा 90% घटता है

2. कोरोना से आगे की लड़ाई में सरकार का 3 बातों पर जोर

sarkar

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सरकार 3 बातों पर लगातार जोर दे रही है। भारत में तेजी से घट रहे कोरोनावायरस के नए मामलों को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ़्रेंस मंगलवार को हुई। इस दौरान स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कई जानकारियाँ दीं। 

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया, ”62 लाख से ज़्यादा लोग ठीक हो चुके हैं और साप्ताहिक संक्रमण दर 6.24% हो गई है। पिछले 24 घंटे में 5.16% संक्रमण दर रही है। एक्टिव केस 9 लाख से नीचे हैं और आज 5वां दिन है, जब मामले 9 लाख से कम हैं।”

नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल ने कहा, ”ठंड के मौसम में ये बीमारी बढ़े और बेकाबू होने की कोशिश करेगी, क्योंकि यह एक सांस संबंधित वायरस है। ऐसा वायरस सर्दी में प्रकोप बढ़ाता है। ऐसा लगता है ये वायरस भी ऐसा ही व्यवहार करेगा। इसलिए हमारा मानना है कि सर्दी में और भी सावधानी बरतनी चाहिए।

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )