दुनिया के लिए असंभव “कोरोना वायरस” का इलाज, अब सिर्फ भारत में

शेयर करें

चीन के वुहान शहर से अपने कद़म रखने वाले कोरोना वायरस की चपेट में आने से अब तक 900 लोगों की मौत हो गई है। 11 फरवरी को इस वायरस से पीड़ित 73 लोगों के मौत की खबर है। चीन से बाहर 22 देशों में कोरोना वायरस के कई मामलों की पुष्टि हुई है। इन देशों में थाईलैंड, जापान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं।

भारत ने ढूंढ निकाला इस गंभीर बिमारी का इलाज:

दरअसल, दुनिया के लिए असंभव बने इस कोरोना वायरस (Coronavirus) का इलाज भारत के डॉक्टरों ने ढूंढ निकाला है। इस वायरस की चपेट में आने से 900 लोगों की मौत के बाद चीन के वैज्ञानिक दिन-रात इस वायरस (Virus) की खोज में जुटे हैं लेकिन नाकाम साबित हुए हैं, लेकिन भारत में इस वायरस से लड़ने की उम्मीद जगी है। 

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि केरल के त्रिशूर में कोरोना वायरस से पीड़ित एक शख्स रिकवर (Recover) कर रहा है। पहले इस शख्स के मेडिकल टेस्ट में कोरोना वायरस (Coronavirus) के होने की पुष्टि की गई थी। लेकिन इलाज के कुछ दिनों बाद जब उसकी जांच की गई थी तो रिजल्ट निगेटिव आया। यानि की मतलब साफ है जिस गंभीर वायरस के प्रकोप से चीन के 900 लोगों की जान गई उस बिमारी (Disease) के मरीज को भारत (India) ने बचा लिया है। 

अब जानते हैं इस वायरस के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

कोरोना वायरस (coronavirus):

कोरोना वायरस (COV) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (W.H.O) यानि डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार (Fever), खांसी (Cough), सांस (Breath) लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है।

आयु एप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

कैसे पहचाने कोरोना वायरस को? 

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है।  इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। 

कोरोना से बचाव के उपाय- 

कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश (Gudlines)-

  • हाथों को साबुन से धोना चाहिए
  • अल्‍कोहल आधारित हैंड रब (Hand Rub) का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है
  • खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें।
  • जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें।
  • अंडे और मांस के सेवन से बचें।
  • जंगली जानवरों (Wild Animals) के संपर्क में आने से बचें।

भारत में भी अब तक इसके तीन मामले सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है। हालांकि, चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। दुनिया भर में कोरोना वायरस के केस लगातार सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्लूएचओ (W.H.O) ने कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया है।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.