भारत में कोरोना वायरस की दूसरी स्टेज, विशेष ध्यान रखें…खराब हो सकती है स्थिति!

2nd Stage of coronavirus

दुनिया में तबाही का मंजर फैलाने वाले कोरोना वायरस  (Coronavirus) की भारत में अभी दूसरे स्टेज है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के मुताबिक, स्टेज-2 का अर्थ है कि अभी वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन (लोगों के बीच आपस में नहीं फैला है। सरकार कोशिश कर रही है कि वायरस स्टेज-3 में न पहुंचे, क्योंकि इससे बड़ा खतरा हो सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार अगले कुछ दिन भारत के लिए काफी अहम हैं। आयु सभी लोगों से अपील करता है कि हमें विशेष ध्यान रखना होगा, ताकि संक्रमण फैलने से रोका जा सके। 

भारत में कोरोना वायरस के 170 केस दर्ज हो चुके हैं। आज यानि 19 मार्च को प्रदेश में कोरोना के 3 नए मामले सामने आए हैं इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में धारा 144 लागू कर दी है। 

कितनी घातक हैं कोरोना वायरस की चार स्टेज

स्टेज 1: इस स्थिति में संक्रमण के मामले वायरस से प्रभावित देशों से आते हैं। इसमें वहीं लोग संक्रमित पाए जाते हैं जिन्होंने विदेश की यात्रा की होती है।

स्टेज 2: जब संक्रमित लोगों से बीमारी का फैलाव स्थानीय लोगों में होता है। उदाहरण के लिए, जब कोई वायरस प्रभावित देश जाता या लौटता है और अपने रिश्तेदारों या परिचितों के संपर्क में आता है, जिससे वे भी संक्रमित हो जाते हैं। इस स्थिति में स्थानीय ट्रांसमिशन में बहुत कम लोग प्रभावित होते हैं और वायरस का सोर्स पता होता है और उसे आसानी से ट्रेस किया जा सकता है।

स्टेज 3: जब वायरस कम्युनिटी ट्रांसमिशन में पहुंच जाता है तो बहुत बड़ा क्षेत्र इससे प्रभावित होता है। इस स्टेज में यह बीमारी भारत के अंदर मौजूद संक्रमित लोगों से यहीं के दूसरे लोगों में फैलने लगेगी। यह बेहद खतरनाक स्थिति है। इस स्टेज में टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए लोग यह नहीं जानते हैं कि उनमें वायरस कहां से आया है। इटली और स्पेन अभी इसी चरण में हैं।

स्टेज 4: यह सबसे भयावह स्थिति है, जब बीमारी महामारी को रूप ले लेती है और यह स्पष्ट नहीं होता है कि इसका खात्मा कब होगी। चीन में ऐसा ही हुआ है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.