Coronavirus New Strain: बेकाबू कोरोना का नया वेरिएंट, डब्ल्यूएचओ की बढ़ी चिंता

Coronavirus New Strain: बेकाबू कोरोना का नया वेरिएंट, डब्ल्यूएचओ की बढ़ी चिंता

हाइलाइट्स- 

  • ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला है (Coronavirus New Strain in uk)
  • 40 से ज़्यादा देशों ने ब्रिटेन से किसी के आने पर लगाई रोक
  • नए स्ट्रेन को पहले के मुकाबले ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। 

Coronavirus New Strain: कोरोनावायरस के नए वेरिएंट (Coronavirus New Strain) का लेकर दुनिया की चिंताएं एक बार फिर बढ़ने लगी हैं। साल 2020 के आखिर में  कोविड-19 (Covid-19) के बजाय कोविड-20 (Covid-20) की चर्चाएं बढ़ रही हैं।

ब्रिटेन में कोरोनावायरस का नया स्ट्रेन (Coronavirus New Strain) पाया गया है, वैज्ञानिकों को आशंका है कि कोरोनावायरस का नया वेरिएंट (Coronavirus New Strain) कोविड-19 (Covid-19) के बजाय 70 प्रतिशत ज्यादा घातक है। 

1. वायरस के नए वेरिएंट के बाद ब्रिटेन आने-जाने वालों पर लगी रोक

  • 40 से ज़्यादा देशों ने ब्रिटेन से किसी के आने पर रोक लगा दी है. इस बीच यूरोपीय संघ एक कॉमन पॉलिसी बनाने पर बातचीत कर रहा है। 
  • डेनमार्क में भी वेरिएंट (Coronavirus New Strain) का मामला सामने आया है जिसके बाद स्वीडन ने डेनमार्क से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • वायरस का नया स्ट्रेन ज़्यादा संक्रामक है लेकिन इस बात के कोई सबूत नहीं है कि ये ज़्यादा घातक भी है। 

2. कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन ने बढ़ाई WHO की  चिंता

एक तरफ ब्रिटेन पर यात्रा प्रतिबंध लगाने वाले देशों की लिस्ट बढ़ती जा रही है, दूसरी ओर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने नए वेरिएंट से जुड़े ख़तरे को लेकर अहम बात कही है। 

डब्ल्यूएचओ इमरजेंसी चीफ़ माइक रायन ने कहा कि महामारी के फैलाव के दौरान नए स्ट्रेन मिलना सामान्य बात है, और ये “बेक़ाबू” नहीं है। जबकि इससे उलट रविवार को ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने नए वेरिएंट के लिए ‘बेक़ाबू’ शब्द का इस्तेमाल किया था।

कई देश दक्षिण अफ्रीका से आने वाले लोगों पर भी प्रतिबंध लगा रहे हैं। दरअसल वहां भी वायरस का एक दूसरा नया वेरिएंट मिला है जो ब्रिटेन में मिले वेरिएंट से अलग है। 

भारत, ईरान और कनाडा जैसे देशों ने भी ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी है। 

3. वैज्ञानिकों का क्या कहना है?

वायरस का नया स्ट्रेन (Coronavirus New Strain) – वैज्ञानिकों ने इसे नया नाम VUI-202012/01 दिया है। खुद ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने आशंका जताई है कि वायरस का नया स्ट्रेन 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक हो सकता है। एक्सपर्ट्स की मानें तो किसी भी वायरस में लगातार म्यूटेशन होता रहता है।

ज्यादातर वेरिएंट खुद ही म्यूटेट होने के बाद मर जाते हैं, लेकिन कभी-कभी वायरस म्यूटेट होने के बाद पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत और खतरनाक होकर सामने आता है।

ये भी पढ़ें-

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें” आयु ऐप’। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.