Coronavirus: वायरस से लड़ने के लिए कितना असरदार है मास्क पहनना?

Covid-19

नोवेल कोरोना वायरस की चपेट में अभी तक 91 हज़ार से ज़्यादा लोग आ चुके हैं, जबकि 3 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसलिए, इस बात से इनकार नहीं किया जाता है कि यह बीमारी दुनिया भर के लिए गंभीर ख़तरा है। जैसे-जैसे कोरोना वायरस का डर फैलता जा रहा है, वैसे-वैसे दुनिया भर में, खासकर चीन में मास्क की बिक्री में तेज़ी से बढ़ी है।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कितना असरदार है मास्क

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक,  यह बीमारी वायरल बूंदों के माध्यम से फैल सकती है, जो किसी व्यक्ति के मुंह से खांसने, छींकने और यहां तक ​​कि बात करने के दौरान निकलती है। तो इसलिए अगर आप कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क खरीदना चाह रहे हैं, तो पहले ये समझना बेहद ज़रूरी है कि मास्क कोरोना वायरस से बचने के लिए ज़रूरी है भी या नहीं। 

विशेषज्ञों ने मास्क के उपयोग के खिलाफ उठाई आवाज़

  1. मेडिकल वर्कर नहीं हैं। 
  2. COVID-19 से संक्रमित नहीं हैं।
  3. संक्रमित रोगियों के निकट संपर्क में नहीं हैं। 
  4. कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज़ की देखभाल नहीं कर रहे हैं। 
  5. ऐसी जगह नहीं रह रहे जहां ये जानलेवा संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है।
  6. फ्लू जैसे लक्षण नहीं हैं। ऐसे सभी लोगों को मास्क का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं है।

सिर्फ मास्क से खत्म नहीं होगा कोरोना वायरस

अगर आपको फ्लू या जुकाम जैसे लक्षण दिख रहे हैं, तो मास्क पहनने से आप इसे फैलने से रोक सकते हैं, लेकिन ये कोरोना वायरस से बचने का सीधा तरीका नहीं है। ऐसा इसलिए, क्योंकि ज़्यादातर लोगों को इसे सही तरीके से पहनना नहीं आता, जिसकी वजह से लीकेज हो सकती है। यहां तक कि लोग दिन में खाने-पीने के लिए कई बार मास्क को निकालते हैं।  

हालांकि, अगर आप ऐसे मास्क की तलाश कर रहे हैं जो वायरल इंफेक्शन से लड़ने में मदद करें, तो आपके लिए ये समझना ज़रूरी है कि आप किस तरह के इंफेक्शन के लिए मास्क की तलाश कर रहे हैं। 

डिस्पोज़ेबल मास्क

डिस्पोज़ेबल मास्क, जो सर्जिकल मास्क जैसे होते हैं, इन्हें मुंह या सांस के ज़रिए निकले बड़े ड्रॉपलेट्स को आसपास मौजूद लोगों तक पहुंचने से रोकने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। हालांकि, ये हवा में मौजूद छोटे-छोटे कर्णों को रोकने में सक्षम हीं होता। इस तरह के मास्क को 3 से 8 घंटों से ज़्यादा नहीं पहनना चाहिए।  

 N95 मास्क

N95 कोरोना वायरस जैसे इंफेक्शन के लिए सबसे अच्छे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ये आपके मुंह और नाक पर अच्छी तरह फिट हो जाते हैं और साथ ही छोटे-छोटे कर्णों को रोकता है। क्योंकि यह मास्क हवा में मौजूद 95 प्रतिशत कर्णों को रोकने में सक्षम है इसलिए इसका नाम N95 पड़ा है। हालांकि, कोरोना वायरस के कर्ण डायमीटर में 0.12 माइक्रॉन जितने होते हैं, जिसकी वजह से ये मास्क भी कुछ हद तक ही मदद कर सकता है।  

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

सरकार ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर

मंत्रालय ने कोरोना वायरस को लेकर एक और हेल्पलाइन नंबर शुरू कर दिया है। 011-21978046 या 1075 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके मदद ली जा सकती।

आयु है आपका सहायक

कोरोना वायरस को लेकर इंटरनेट पर फैली तमाम तरह की अफ़वाहों के बीच आप इस वायरस से संबंधित जानकारी के लिए आयु ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। जहां भारत के सर्वश्रेष्ठ डॉक्टर्स द्वारा स्वास्थ्य संबंधित संपूर्ण जानकारी दी गई है। ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।


Leave a Reply

Your email address will not be published.