fbpx

16 जनवरी से देश में कोरोना का वैक्सीनेशन, कोविशील्ड के बाद कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरु

16 जनवरी से देश में कोरोना का वैक्सीनेशन, कोविशील्ड के बाद कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरु

कोरोना का वैक्सीनेशन (Coronavirus vaccination) 16 जनवरी से शुरु होने जा रहा है। सीरम इंस्टीट्यूट की कोवीशील्ड के एक दिन बाद भारत बायोटेक की कोवैक्सिन की भी डिलीवरी शुरू हो गई है। 

कोवैक्सिन की पहली खेप बुधवार सुबह 6.40 बजे एयर इंडिया की फ्लाइट से हैदराबाद से दिल्ली भेजी गई। दिल्ली के अलावा बेंगलुरु, चेन्नई, पटना, जयपुर, लखनऊ, रांची, कुरूक्षेत्र, कोच्चि समेत 11 शहरों में इसकी पहली खेप पहुंच गई है।

1. 16 जनवरी से देश में कोरोना का वैक्सीनेशन Corona Vaccination begins from 16th January

कोरोना का वैक्सीनेशन भारत में दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम होने वाला है। स्वंय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअली वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत करेंगे। प्रधानमंत्री इस मौके पर वैक्सीनेशन से संबंधित Co-Win ऐप भी लॉन्च करेंगे।

कोरोना का वैक्सीनेशन के लिए जयपुर पहुंची कोवैक्सिन Covaxin reached jaipur for corona vaccination

भारत बायोटेक की कोवैक्सिन कोरोना का वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए जयपुर पहुँच चुकी है। बतादें, एयर एशिया की फ्लाइट से कोवैक्सिन के 60 हजार डोज सुबह 11 बजे जयपुर पहुंचे। इन्हें एयरपोर्ट से सीधे आदर्श नगर स्थित स्टेट ड्रग स्टोर लाया गया। कोवीशील्ड के डोज भी आज शाम करीब पांच बजे जयपुर एयरपोर्ट पहुंचने की उम्मीद है।

कोरोना का वैक्सीनेशन के तहत भारत बायोटेक सरकार को 16.5 लाख डोज फ्री देगी

भारत में कोरोना का वैक्सीनेशन दुनिया का सबसे बड़ा प्रोग्राम होने जा रहा है। कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही का मंजर ला दिया था। 

भारत बायोटेक इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर कोरोना वैक्सीन बना रहा है। कंपनी 16.5 लाख डोज सरकार को फ्री देगी, बाकी 38.5 लाख वैक्सीन के हर डोज के लिए 295 रुपए चार्ज किए जाएंगे।

उधर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के CEO अदार पूनावाला ने मंगलवार को कहा कि कोवीशील्ड के 10 करोड़ डोज सरकार को 200 रुपए के स्पेशल रेट पर दिए जाएंगे, जबकि बाजार में वैक्सीन की कीमत 1000 रुपए होगी।

दिल्ली में केजरीवाल ने केंद्र से फ्री वैक्सीनेशन की मांग की है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से फ्री वैक्सीनेशन की मांग की है। केजरीवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को फ्री में वैक्सीन उपलब्ध कराना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तब भी हम दिल्ली में फ्री में वैक्सीनेशन करेंगे। 

सरकार ने कोवैक्सिन के 55 लाख डोज का ऑर्डर दिया 

सरकार ने कोवैक्सिन के 55 लाख डोज का ऑर्डर दिया है। ड्रग रेग्युलेटर ने कोवैक्सिन और कोवीशील्ड के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सरकार ने कोवैक्सिन के 55 लाख और कोवीशील्ड के 1.1 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है।

कोरोना का वैक्सीनेशन इन प्रदेशों में फ्री होगा Corona vaccination will be free in these states

कोरोना का वैक्सीनेशन इन प्रदेशों में फ्री होगा। इनमें पंजाब, दिल्ली और जयपुर भी हो सकता है। मालूम हो, कोवीशील्ड की पहली खेप देर रात चंडीगढ़ पहुंची। राज्य सरकार ने यहां फ्री में वैक्सीन लगाने का ऐलान किया है।

कोरोना वैक्सीन की पहली खेप कहां-कहां पहुँची Where did the first shipment of the corona vaccine arrive?

कोरोना वैक्सीन की पहली खेप कहां-कहां पहुँची है? सरकारी डेटा के मुंताबिक, कोरोना का वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरु होने जा रहा है और अब तक कोरोना वैक्सीन दिल्ली, पंजाब, सूरत, रांची, मुंबई, चंड़ीगढ़, करनाल, भोपाल और जयपुर में वैक्सीन पहुँच चुकी है। 

रांची में कोवैक्सिन के 16 हजार 200 वायल्स पहुंचे हैं, वहीं सूरत में कोरोना वैक्सीन की एक के बाद दूसरी खेप में 93 हजार 500 डोज पहुँच चुके हैं। इसके अलावा पहली खेप में झारखंड को 16 हजार 200 वायल्स (शीशियां) मिले हैं। भोपाल में कोवीशील्ड के 94 हजार डोज, करनाल में 4 लाख डोज पहुंचे हैं।

डिस्क्लेमर-

यदि आप बीमार महसूस कर रहे हैं और डॉक्टर की ज़रूरत है तो आयु ऐप पर क्लिक करें और इस फीचर की मदद से टेलीकम्यूनिकेशन के जरिए डॉक्टर से परामर्श करें। चाहें आप लॉकडाउन में हों या घर पर सुरक्षित हों, छोटा सा दर्द या बीमारी भी ऐसे समय में बड़ी लगने लगती है।  ऐसे में बाहर जाकर खतरे को बढ़ाने कि बजाय ग्राहक अब 24×7 मेडिकल सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। बस आपको इतना करना है कि बीमारी के लक्षणों की पर्याप्त जानकारी और कैसा महसूस कर रहे हैं, के बारे में डॉक्टर को बताना है, फिर वह डायग्नोसिस करके यदि ज़रूरत हुई तो डिजिटल प्रिस्क्रिप्शन देगा। 

यह न सिर्फ हमें सामान्य हालात में वापस लाता है, बल्कि चाहे हम बहुत दूर रहते हों, घर में बड़े-बुजुर्ग हों तो हमारे पास एक विश्वसनीय दोस्त आयु ऐप है देखभाल के लिए। 

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )