fbpx
Corona Brief News: कोरोना का कहर सर्दियों में फिर बढ़ेगा -चेतावनी, भारत को अगले साल तक मिलेगी कोरोना वैक्सीन

Corona Brief News: कोरोना का कहर सर्दियों में फिर बढ़ेगा -चेतावनी, भारत को अगले साल तक मिलेगी कोरोना वैक्सीन

Coronavirus Latest update : कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है, WHO का कहना है कि सर्दियों में कोरोना का कहर और अधिक बढ़ सकता है, इससे होने वाली मौतों में भी इज़ाफा देखा जाएगा। दूसरी और खबर है कि भारत को 2021 की शुरुआत में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) मिलने की उम्मीद है। 

1.सर्दियों में बढ़ेगा कोरोना का कहर-WHO (Coronavirus will worse in winters)

who 3
Coronavirus who says pandemic will be over in two years winters are worse
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना महामारी को लेकर एक बार फिर चेतावनी दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के रीजनल डायरेक्टर हेनरी क्लग ने कहा, ‘सर्दियों में युवा लोग बुजुर्ग आबादी के ज्यादा करीब होंगे हम गैर जरूरी भविष्यवाणी नहीं करना चाहते, लेकिन इसकी निश्चित रूप से आशंका है। इस दौरान ज्यादा लोग अस्पतालों में भर्ती होंगे और मृत्यु दर बढ़ जाएगी।’
  • डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा है कि उसने एक कमेटी बनाई है जो हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा करने के नियम बदलेगी। कोरोना महामारी के बाद डब्ल्यूएचओ (WHO) पर दुनिया को देरी से जानकारी देने के आरोप लगते रहे हैं। डब्ल्यूएचओ ने 30 जनवरी को कोरोना (Corona) के चलते हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा की थी। उसका दावा है कि इस दौरान चीन में केवल 100 मामले थे। 

2.भारत को कब तक मिलेगी कोरोना वैक्सीन, जानें क़ीमत

भारत में कोरोना वैक्सीन के साल 2021 के पहले तिमाही में आने के संकेत हैं। वैश्विक ब्रोकरेज फर्म बर्न्सटीन ने एक रिपोर्ट में वैक्सीन के ट्रायल के आगे बढ़ने की गति के आधार पर यह संभावना जाहिर की है। 

doz
Corona Vaccine In India May Get By Early 2021
  • न्यूज रिपोर्ट्स के मुतबाकि, अध्ययन में बताया गया है कि वैश्विक स्तर पर फिलहाल चार वैक्सीन कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पुष्ट दवा के तौर पर मंजूरी पाने के करीब हैं।
  • इनके प्रयोग पूरे होने के बाद मंजूरी मिलने तक की प्रक्रिया 2020 के अंत या 2021 की शुरुआत में पूरी होने के आसार हैं। इन 4 वैक्सीन में भारत की एजेड/ऑक्सफ़ोर्ड की वायरल वेक्टर वैक्सीन और नौवावेक्स की प्रोटीन सब यूनिट वैक्सीन शामिल हैं। 
  • रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि वैक्सीन की एक खुराक के लिए भारतीय मरीज़ों को 3 से 6 डॉलर  (225 रुपये से 550 रुपये) तक खर्च करना पड़ सकता है।

3.प्रोटीन, मृत वायरस और नाक से स्प्रे वाली वैक्सीन भी बना रहे वैज्ञानिक

scientist 2 1
Suspicion Of One Vaccine Always Being Effective, So Scientists Are Making Vaccines From Nasal Spray, Protein, Dead Virus Too

Corona vaccine trial update:  कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किसी एक वैक्सीन के हमेशा प्रभावी रहने पर संदेह है इसलिए वैज्ञानिक प्रोटीन,मृत वायरस और नाक से स्प्रे वाली वैक्सीन पर भी काम कर रहे हैं। फिलहाल 30 से ज्यादा वैक्सीन का ट्रायल जारी है, वहीं खबर है कि 2021 तक 67 का क्लीनिकल ट्रायल शुरू हो जाएगा। लेकिन चिंता इस बात की है कि पहली वैक्सीन (Vaccine) बाद में भी उतनी ही प्रभावी रहेगी या नहीं।

द न्यूयॉर्क टाइम्स को मिली जानकारी के मुताबिक, 88 वैक्सीन का प्री-क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। इनमें से 67 वैक्सीन 2021 के अंत तक क्लीनिकल ट्रायल के स्तर पर आने की उम्मीद है। दूसरी तरफ वैज्ञानिकों को वैक्सीन के प्रभाव को लेकर भी चिंता है।

4. दोबारा हो सकता है कोरोना वायरस, जानें कारण?

herd
What coronavirus reinfection means for herd immunity covid vaccine

Coronavirus: दोबारा कोरोना संक्रमण होने के क्या कारण हैं, वैज्ञानिकों के मुताबिक, वैक्सीन और हर्ड इम्यूनिटी के बाद भी कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहेगा। भारत के तेलंगाना और गुजरात में कोरोना वायरस से दोबोरा संक्रमण के मामले सामने आने की खबर है। 

हालांकि अभी भी बहुत सारे विशेषज्ञों का यही कहना है कि दोबारा संक्रमण के मामले दुर्लभ हैं। जानकारों के अनुसार, इस वायरस से जो पूरी तरह रिकवर नहीं हो पाते तो ऐसी स्थिति में उसके दोबारा संक्रमण होने की संभावना बनी रहती है।

कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि 50 दिन के अंदर ही एंटीबॉडी खत्म हो सकती है। वहीं, मुंबई के जेजे अस्पताल में की गई एक स्टडी में पाया गया कि तीन से पांच हफ्ते पहले कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) हुए लोगों में से 90 फीसदी लोगों में महज 38.8 फीसदी एंटीबॉडी ही बची थी।

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )