कोरोना प्रभावित अधिकत्तर लोगों के फेफड़ें हुए ठीक -रिसर्च

कोरोना Coronavirus

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से मरीजों के बुरी तरह प्रभावित हुए फेफड़ें अब धीरे-धीरे ठीक हो रहे हैं। एक अध्ययन में सामने में पाया गया कि कोरोना प्रभावित व्यक्तियों के फेफड़ों के उत्तक अधिकतर मामलों में ठीक हो गए हैं।

यह रिसर्च नीदरलैंड के रेडबाउंड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की गई। जिसमें पाया कि अस्पतालों के गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती रोगी ज्यादा अच्छे तरीके से ठीक हुए हैं। 

1. कोरोना प्रभावित मरीज़ों पर हुआ अध्ययन

कोरोना मरीज़ों पर किया गया यह अध्ययन ‘क्लीनिकल इन्फेक्शियस डिजीजेज़’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। जानकारी के अनुसार, कोविड-19 (Covid-19) से बुरी तरह संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके 124 रोगियों को इस अध्ययन में शामिल किया गया।

वैज्ञानिकों द्वारा की गई रिसर्च में पता चला कि आईसीयू में इलाज कराने वाले कोरोना मरीज़ों के फेफड़े के उत्तक में क्षति बहुत अधिक हुई थी। अध्ययन के मुताबिक, तीन महीने के बाद सबसे सामान्य शिकायत थकान, सांस फूलना और सीने में दर्द की थी। 

किसी भी बीमारी के लिए घर बैठे ऑनलाइन दवाईयाँ मंगवाने के लिए क्लिक करें-

Order medicine Online
Order medicine Online

2. विशेषज्ञों की प्रतिक्रिया

फेफड़ा रोग विशेषज्ञ ब्रैम वान डेन बॉर्स्ट ने कहा, ‘‘निमोनिया या एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम (एआरडीएस) से ठीक हुए मरीजों की भांति लक्षण इन रोगियों में भी दिखे, जिनमें फेफड़ों में तरल पदार्थ जम जाता है।

रोगियों की जांच सीटी स्कैन से की गई और उनके फेफड़ों की भी जांच की गई। तीन महीने के बाद शोधकर्ताओं ने जायजा लिया और पता चला कि रोगियों के फेफड़ों के उत्तक अच्छी तरह से ठीक हो चुके हैं। 

अध्ययन में रोगियों को तीन श्रेणियों में विभक्त कर दिया गया — एक समूह जो आईसीयू में भर्ती था, दूसरे समूह में अस्पताल के नर्सिंग वार्ड में भर्ती रोगी थे और ऐसे लोग तीसरे समूह में थे जिनमें लक्षण थे लेकिन वे घर पर ही रहे। अध्ययन में आकलन किया गया कि तीन महीने के बाद रोगियों पर क्या प्रभाव रहा। 

लेटेस्ट कोरोना वायरस अपडेट्स और किसी भी बीमारी से संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श के लिए डाउनलोड करें ”आयु ऐप’। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.