COMMON COLD | साधारण जुकाम ना बन जायें ख़तरनाक ब्रोंकाइटिस, लक्षण व उपाय

सर्दी/जुखाम (Common Cold) में होने वाले लक्षण आप सभी पहचानते है लेकिन यह जानना ज़रूरी है कि यह सामान्य है या गंभीर।

अगर सर्दी/जुखाम (Common Cold) खत्म हो जाने के बाद खांसी बनी रहती है या आप असामान्य लक्षणों को देखते हैं, तो अपने नज़दीकी डॉक्टर से परामर्श लें।क्युकी लम्बे समय तक की खांसी टी बी हो सकती है

मेडकॉर्ड्स (MedCords) डॉक्टर के अनुसार अगर आपको खांसी कम से कम छह से आठ सप्ताह तक चलती हैं तो उसे पुरानी या सूखी खांसी कहते है, जिसका अर्थ है कि कोई बलगम या कफ़ नहीं बनना। लगातार खांसी होने की स्थिति को कभी-कभी “खांसी-भिन्नता (वह सूखी खांसी जिसमें कफ़ न गिरे)” कहा जाता है। खांसी-भिन्नता के लिए सर्दी या धूल, ठंडी हवा, या एलर्जी जैसे श्वसन संक्रमण कारण हैं।

कई बार सर्दी – जुकाम लम्बे समय तक बना रहता है और उसके ब्रोंकाइटिस में बदल जाने की पूर्ण संभावना रहती है, ऐसे में ये पहचानना ज़रूरी है कि कहीं आप ब्रोंकाइटिस के ख़तरे की तरफ तो नहीं बढ़ रहे हैं।

किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए आज ही “Aayu” ऐप डाउनलोड करें

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) क्या है?

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) या छाती में ठंड-

कभी-कभी छाती में होने वाली ठंड को ब्रोंकाइटिस कहते है – यह तब होता है जब आपके वायुमार्ग में सूजन हो जाती है और वह अधिक बलगम बनाते है।

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) के दो मूल प्रकार हैं:

तीव्र ब्रोंकाइटिस (Acute Bronchitis) –  तीव्र ब्रोंकाइटिस अधिक आम है, इसको छाती में ठंड होना भी कहा जाता है। इस प्रकार की ब्रोंकाइटिस को अक्सर नियमित ठंड से भी बदतर माना जाता है लेकिन ये इतना गंभीर नहीं होता है।

क्रोनिक(बहुकालीन) ब्रोंकाइटिस (Chronic Bronchitis) यह एक खांसी है जो कम से कम दो साल तक हर साल दो से तीन महीने तक बनी रहती है।

COMMON COLD | सर्दी जुकाम से जुडें भ्रम क्या हैं? जानें!

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) के लक्षण

  • एक खांसी जो लगातार होती है और बलगम पैदा करती है
  • ऊर्जा की कमी या थकावट
  • सांस लेने पर एक आवाज़ या घरघराहट
  • बुखार

यदि आपको उपरोक्त लक्षण महसूस हो तो अपने नज़दीकी डॉक्टर से परामर्श लें।

यदि आपको ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) है तो आपको घर पर यह करना चाहिए

  • हर एक से दो घंटे के अंतराल में तरल पदार्थ पीएं।
  • यदि आप ठंड पकड़ते हैं, तो बहुत आराम करें।
  • स्वस्थ आहार ही खाएं।
  • अपना भोजन, कप, चश्मा, या खाने के बर्तन साझा न करें।
  • धूम्रपान ना करें एवं दूसरों को अपने घर में धूम्रपान करने की अनुमति न दें।
  • इस दौरान धूल या पालतू जानवर से दूर रहें।
  • अपने बलगम को साफ़ करने के लिए अपने डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें।
  • यदि आपको खांसने में बलगम आ रहा है, तो आप दिनभर में कितना खांस रहे एवं बलगम के रंग और मात्रा की रिपोर्ट अपने डॉक्टर को करें।

उपरोक्त बातों को ध्यान में रखें और ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) या कोई गंभीर बीमारी होने से अपने और अपने परिवारजनों को बचाएँ।

आयु है आपका सहायक

अगर आपके घर का कोई सदस्य लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.