MedCords

कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज | Cholesterol-lowering Exercise Tips

कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज

पैदल चलना, शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करने की सबसे आसान एक्सरसाइज है। खाना खाने के बाद थोड़ी देर चलें और टहलें। तेज गति से चलना कोलेस्ट्रॉल की समस्या को कम करने में आपकी मदद करता है।

एक्सरसाइज ना सिर्फ आपके पूरे स्वास्थ्य को स्वस्थ रखता है, बल्कि आप प्रतिदिन एक्सरसाइज करके अपना कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल कर सकते हैं। अक्सर लोग उच्च कोलेस्ट्रॉल से ग्रस्त हो जाते हैं। कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज की सलाह दी जाती हैं। कुछ आसन से व्यायाम करके आप अपने उच्च कोलेस्ट्रॉल लेवल को लो कर सकते हैं। व्यायाम स्वस्थ रहने का अच्छा तरीका है। इसे अपनी जीवनशैली में जरूर शामिल करें, खासकर ऐसे लोग जो मोटापा, हाई कोलेस्ट्रॉल आदि के शिकार हैं। (यह भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर के घरेलू उपाय)

एक अध्ययन के अनुसार, तेज गति से चलना कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए एक्सरसाइज के रूप में बेहतर माना जाता है। रनिंग या जॉगिंग कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए सबसे अच्छी एक्सरसाइज मानी जाती है। यदि आपको रनिंग या जॉगिंग करना पसंद है तो यह आपके शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करता है और यह आपकी एक तरह की कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज है। इससे वजन कम होता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज (Cholestrol lowering exercise)

आपको कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज में बता दें कि इसमें आप वॉकिंग, स्विमिंग और साइकिलिंग शामिल करें।

वॉकिंग करें: वॉकिंग शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करने की अच्छी एक्सरसाइज है। खाना खाने के बाद आप थोड़ी देर चलें और टहलें। तेज गति से चलना कोलेस्ट्रॉल की समस्या को कम करने में मदद करता है। तेज गति से चलने वाले लोग, दौड़ने वाले लोगों के जैसी अपनी कैलोरी बर्न करते हैं। वॉकिंग एक्सरसाइज उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप दोनों के खतरों को कम करने में सहायक है। इसलिए यह एक कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज है।

स्विमिंग करें: स्विमिंग एक एरोबिक व्यायाम है, जो कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज है। एक शोध में पाया गया कि तैराकी शरीर के वजन में सुधार करता है, शरीर में फैट कम करने और एलडीेएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को ठीक करने में मदद करता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज

साइकिलिंग करें: साइकिल चलाने से जॉगिंग की तरह शरीर की ऊर्जा खत्म होती है। लेकिन जॉगिंग में कई बार जोड़ों में दर्द हो जाता है, पर साइकिल चलाने से ऐसा नहीं होता। साइकिलिंग कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज है जो लोग शारीरिक रूप से एक्टिव होते हैं, उनमें उच्च कोलेस्ट्रॉल कम होने की संभावना होती है। साइकिल चलाने से हृदय रोग का खतरा कम होता है। नियमित रूप से साइकिल चलाने से दिल का दौरा भी कम पड़ता है। यह कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज है।

आइये अब जानते है कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले व्यायाम कौन-कौन से है।

अभी हमने आपको बताया कि कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज क्या-क्या है अब आपको इनके लिए व्यायाम कौन-कौन से करने चाहिए यह बताएंगे।

कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले व्यायाम (Cholestrol lowering yoga)

नौकासन (बोट पोज़): इस योगासन में पीठ के बल मैट पर लेट जाएं, फिर दोनो हाथों को शरीर के साथ लगाएं और दोनों पैरों को एक साथ जोड़े। पहले गहरी साँस लें और फिर अपनी टांगों और हांथों को ज़मीन से उठाते समय धीरे-धीरे साँस छोड़ें। अपने हाथों के साथ-साथ अपने धड़ को भी ऊपर उठाएं। 10-20 सेकंड तक इसी मुद्रा में रहें फिर धीरे-धीरे अपनी पहले वाली स्थिती में आ जाएं। (यह भी पढ़ें: सांस फूलने का रामबाण इलाज)

मत्स्यासन (फिश पोज़): इस योगासन में पीठ के बल मैट पर लेट जाएं, फिर हाथों को शरीर के साथ लगा लें, और दोनों पैरों को एक साथ जोड़ लें। अपनी हथेलियों को हिप्स के नीचे लगाएं और अपनी कोहनियों को अंदर की ओर खीचें और एक दूसरे के करीब लाने की कोशिश करें फिर धीरे से अपने सिर को जमीन से ऊपर उठाएं और अपने पैरों को बाहर की ओर खीचें।

इस बात का ध्यान रखें कि आपके शरीर का भार आपकी कोहनियों पर हो, आपके सिर की जगह। इस मुद्रा में जितनी देर हो सके उतनी देर बने रहें, और फिऱ धीरे-धीरे अपने पहले वाली मुद्रा में वापस आ जाएं। एक बात का ध्यान रखें कि इस मुद्रा के दौरान सांसों की गति सामान्य रखें।

धनुरासन (बो पोज़): इस योगासन में योगा मैट पर अपने पेट के बल लेट जाएं, फिर अपने कूल्हों की चौड़ाई पर अपने पैरों को खोलें अब टांगों को अपनी पीठ की ओर घुटनों से मोड़ें, और अपने पैरों या अपनी एड़ियों को हाथों से पकड़ें। अब धीरे से सांस अंदर लेते हुए अपने सिर को जमीन से ऊपर उठाएं। सांसों की गति सामान्य रखें और 15-20 सेकंड तक इसी मुद्रा में बने रहें फिर धीरे से अपनी पुरानी मुद्रा में वापस लौट आएं और सांस बाहर छोड़ दें।

उष्ट्रासन(कैमल पोज़): इस मुद्रा के लिए, अपने हाथ अपने हिप्स पर रखकर योगा मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं, यह ध्यान रखें कि तलवे ऊपर की तरफ हों। अपने हाथ अपने पैरों पर रखकर पीछे की ओर झुके फिर साँस लें और धीरे से अपनी पीठ को मोड़ें जैसे कि नाभि की ओर खींचा जा रहा हो। इस बात का ध्यान रखें कि आपके हाथ बिल्कुल सीधे हों। जितनी देर हो सके इस मुद्रा में बने रहें फिर धीरे से अपनी गर्दन पर दबाव डाले बिना पहले वाली मुद्रा में लौटे आएं।

भुजंगासन (कोबरा पोज़): इस योगासन में पेट के बल अपने योगा मैट पर लेट जाएं, जैसे आपका सिर मैट को छू रहा हो। पैर जुड़े हुए हों और आपकी हथेलियां आपके कंधों के नीचे हों। जब आप साँस छोड़ें तो अपने सिर, गर्दन, कंधों और धड़ को ऊपर उठाएं। अगर आप अपनी कमर को पूरी तरह पीछे की ओर खींच सकते हैं, तो ऐसा हाथों को बिल्कुल सीधा रखते हुए करें। ध्यान रखें कि दोनों हाथों पर एक समान भार रहे और इसी मुद्रा में कुछ सेकंड के लिए बने रहें फिर धीरे से अपनी पुरानी मुद्रा में लौट आएं और रिलैक्स करें।

डिस्क्लेमर: कोलेस्ट्रॉल कम करने की एक्सरसाइज में आपके लिए कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए साइकिलिंग, वॉकिंग आदि करना चाहिए। आपको इसके लिए यहाँ सामान्य जानकारी दी गई है। किसी भी तरह की समस्या होने पर डॉक्टर से परामर्श लें ।

हेल्थ संबंधी जानकारियां पाने के लिए आयु ऐप डाउनलोड करके आप अपने फोन पर रोज़ाना सेहत की बातें सेक्शन में जाकर पढ़ सकते है।