लंबी महिलाओं को Breast Cancer (स्तनपान कैंसर) का खतरा अधिक है और भी कई सारे रिस्क फैक्टर्स | Daily Health Tip | Aayu App

risk of breast cancer

जिन महिलाओं में समय से पहले पीरियड्स आते है उन्हें ब्रैस्ट कैंसर का खतरा ज़्यादा होता है। इसलिए समय से पहले पीरियड्स आने को नजरअंदाज ना करें। डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

Women who have premature periods are at a higher risk of breast cancer. Therefore, do not ignore irregular periods. Consult a doctor.

Health Tip for Aayu App

दुनियाभर में ब्रेस्ट कैंसर की बीमारी तेजी से फैल रही है। अकेले भारत की बात करें तो यहां की महिलाओं के बीच होने वाला सबसे कॉमन कैंसर है ब्रेस्ट कैंसर जो देशभर की करीब 2.56% प्रतिशत महिलाओं को हर साल अपनी चपेट में ले लेता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि लगभग हर 28 में से 1 महिला को अपनी लाइफ में कभी-ना-कभी ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका बनी रहती है।

शहरी इलाकों की लगभग हर 22 में से 1 महिला को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा रहता है जबकि ग्रामीण परिवेश की हर 60 में से 1 महिला को ब्रेस्ट कैंसर का खतरा हो सकता है। 30 साल की उम्र आते-आते ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा बढ़ना शुरू हो जाता है जो 50 से 60 साल के बीच में अपने चरम पर रहता है।

ब्रैस्ट कैंसर (स्तनपान कैंसर) क्यों होता है?

अगर आप सोच रही है कि ब्रेस्ट कैंसर के होने की वजह आपको पता चल जाए तो आप इससे बच सकती है तो ऐसा नहीं होता क्योंकि अभी तक ब्रैस्ट कैंसर के होने की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है। बहुत से फैक्टर्स या वजहें हैं जिन वजह से ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक हो जाता है। इसमें हमारे जीन्स, हमारा शरीर, हमारी लाइफस्टाइल और यहां तक की वातावरण भी अहम भूमिका निभाता है।

ब्रेस्ट कैंसर विकसित होने के कई सारे रिस्क फैक्टर्स हैं जिनके बारे में हम आपको बताते है।

महिला की बढ़ती उम्र: महिलाओं की उम्र जैसे-जैसे बढ़ती जाती है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा भी बढ़ता जाता है। 50 साल से अधिक उम्र की महिलाओं में खतरा सबसे ज़्यादा होता है।

अगर आपकी हाइट अधिक है: अगर आपकी हाइट औसत महिलाओं से अधिक है तो आपको ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा कम हाइट वाली महिलाओं की तुलना में अधिक होता है।

समय से पहले पीरियड्स आना: अगर आप उन लड़कियों में से हैं जिन्हें कम उम्र में ही या समय से पहले पीरियड्स शुरू हो गया था तो आपको ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक है। फीमेल हॉर्मोन ऐस्ट्रोजन की लंबे समय तक मौजूदगी की वजह से यह रिस्क बढ़ जाता है।

जेनेटिक भी होता है ब्रेस्ट कैंसर: कई बार ब्रेस्ट कैंसर जेनेटिक भी होता है यानि अगर आपके परिवार में किसी को ब्रैस्ट कैंसर हुआ है तो आपको भी होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसी महिलाओं की संख्या करीब 15 प्रतिशत है जिनकी फैमिली हिस्ट्री में अगर किसी को ब्रेस्ट कैंसर हुआ हो तो उन्हें भी होने का खतरा रहता है।

मेनॉपॉज देर से होना: वह महिलाएं जिन्हें दूसरी महिलाओं की तुलना में मेनॉपॉज देर से आता है उन महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.