ठंड के मौसम में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए फल | Daily Health Tip | Aayu App

immunity boost

सर्दियों में अमरूद का सेवन बहुत ही फायदेमंद है, इसमें विटामिन-सी की मात्रा अधिक होती है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है।

Consumption of guava in winter is very beneficial; it has an excessive amount of vitamin-C. It helps to increase immunity.

Health Tip for Aayu App

इम्युनिटी को बेहतर बनाने के लिए फल का सेवन करना बहुत जरूरी है। इनमें मौजूद पोषक तत्व इम्युनिटी प्रदान करने में सहायक है।

ठंड के मौसम में खाँसी-सर्दी व वायरल बुखार की चपेट में बहुत लोग आ जाते है। पिछले साल तक इन परेशानियों को लोग ज्यादा गंभीरता से नहीं लेते थे लेकिन इस कोरोनाकाल में खांसी होने से लोग बेचैन हो जाते है। कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों में खांसी-जुकाम होने की संभावना ज्यादा होती है। कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा भी कमजोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों में ज्यादा देखा जाता है। इसलिए इम्युनिटी मजबूत रहे, इसके लिए सर्दियों के मौसम में कुछ फलों का सेवन फायदेमंद होता है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच इम्यूनिटी यानि प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने पर जोर दिया जाता है। रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाकर वायरस और अन्य बीमारियों को दूर किया जा सकता है। बिमारियों से लड़ने के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होनी चाहिए। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ताजे फल और सब्जियों (Fresh Fruits And Vegetables) का सेवन करें, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते है जो अलग-अलग रोगों से शरीर को बचाते है। विटामिन-सी से समृद्ध खाद्य पदार्थ इम्यूनिटी का स्तर सुधारते है।

अमरूद: अमरूद में एंटीऑक्सीडेंट्स, पोटैशियम और विटामिन्स जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते है। इसे विटामिन-सी का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। विटामिन-सी युक्त फलों का सेवन इम्युनिटी बूस्ट करने में मददगार है। ऐसा माना जाता है कि संतरे के मुकाबले अमरूद में चार गुना अधि‍क विटामिन-सी होता है, जो सेहत को कई तरह के लाभ पहुँचाता है।

कीवी: कीवी पोषक तत्व और विटामिन से भरपूर होते है। यह आपको ठंड ,फ्लू जैसी बीमारियों से बचाता है। बेहतर इम्युनिटी के लिए रोजाना कीवी का सेवन करना फायदेमंद है। यह ना केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए, बल्कि प्रेग्नेंसी में भी फायदेमंद होता है।

संतरा: इम्युनिटी को बेहतर और मजबूत बनाने के लिए फलों का सेवन करना बहुत जरूरी है। इनमें मौजूद पोषक तत्व इम्युनिटी प्रदान करने में सहायक है। इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ खट्टे फल खाने की सलाह देते है। संतरा अथवा स्वीट लाइम में विटामिन-सी भरपूर मात्रा में मौजूद होते है जो शरीर में वाइट ब्लड सेल्स (White Blood Cells) की मात्रा को बढ़ाते है। वाइट ब्लड सेल्स शरीर को संक्रमण से बचाते है।

सेब: रोज एक सेब खाने से बीमारियाँ दूर रहती है। सेब को पोषक तत्वों का भंडार माना जाता है। इसमें मौजूद फाइबर शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। सेब के छिलके में क्वेरसेटिन पाया जाता है जो इम्युनिटी  को मजबूत करने में सहायक है।

आंवला: प्रतिरक्षा प्रणाली यानि इम्यून सिस्टम हानिकारक संक्रमण से लड़ता है और शरीर को रोग मुक्त रखने में अहम भूमिका निभाता है। विटामिन-सी से भरपूर होने की वजह से आंवला प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) को मजबूत करता है और रोगों के खिलाफ लड़ने के लिए पर्याप्त क्षमता प्रदान करता है। आधा कप गर्म पानी में बराबर मात्रा में आंवले का रस मिलाकर रोजाना सेवन करें।

पपीता: पपीता में विटामिन-सी होने से सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद मिलती है और यह कोशिकाओं को फ्री रेडिकल क्षति से बचाता है। पपीता में प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन-ए और ई भी होते है। विटामिन-ए और ई दोनों एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) के उचित कार्य के लिए आवश्यक है। पपीते को उन लोगों के लिए अच्छा माना जाता है जो सर्दी, फ्लू और खांसी से पीड़ित होते है।

शिमला मिर्च: शिमला मिर्च कई सारे महत्वपूर्ण पोषक तत्व जैसे विटामिन-सी, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। यह एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति के कारण आँखों के स्वास्थ्य में सुधार करता है और एनीमिया को रोकता है।

नींबू: नींबू वजन घटाने, हृदय और पाचन स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए जाना जाता है। नींबू में साइट्रिक एसिड मूत्र (Urine) की मात्रा और शरीर में पीएच के स्तर को बढ़ाकर किडनी की पथरी को रोकने में मदद करता है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.