fbpx

कोरोनावायरस के बीच बर्ड फ़्लु की दस्तक। ऐसे करें बचाव

कोरोनावायरस के बीच बर्ड फ़्लु की दस्तक। ऐसे करें बचाव

बर्ड फ़्लु वायरस (Bird Flu) कोरोनावायरस से भी अधिक खतरनाक बताया जा रहा है। कोरोनावायरस का संक्रमण अभी खत्म भी नहीं हुआ उससे पहले नए वायरस बर्ड फ़्लु (Bird flu) ने दस्तक दे दी है। यह वायरस इस समय पक्षियों में बहुत तेजी से फैल रहा है। 

1. बर्ड फ़्लु (Bird Flu)का संकट इन 6 राज्यों में 

मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, झारखंड और केरल से समाचार हैं कि वहां बड़ी संख्या में पक्षियों की मौत हुई है।

मरने वाले पक्षियों में विदेशी पक्षी भी शामिल हैं और जानकार कह रहे हैं कि इनकी मौत की वजह बर्ड फ़्लू (Bird Flu) है।

राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान ने इस संबंध में केंद्र सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है जिसमें संस्थान ने कहा है कि हिमाचल प्रदेश में पक्षियों की अचानक हुई मौत की वजह ‘बर्ड फ़्लू’ यानी ‘एवियन इन्फ़्लूएंज़ा’ है।

Bird Flu वायरस के चलते कई जगहों पर कौओं की मौत हुई है, कई जगहों पर बड़ी संख्या में मुर्गियां मर गई हैं, तो  कुछ जगहों पर विदेश से उड़कर आने वाले प्रवासी पक्षियों की भी जान चली गई है। 

2. बर्ड फ़्लू है क्या? (What is Bird Flu)

बर्ड फ़्लू एच5एन1 वायरस की वजह से होता है। इसे एवियन इन्फ़्लूएंज़ा कहा जाता है। यह मुख्य रूप से बत्तख़ों, मुर्गियों और प्रवासी पक्षियों को होता है और यह फ़्लू संक्रामक है।

प्रवासी पक्षियों में होने के कारण इस फ़्लू के एक बड़े इलाक़े में फैल जाने की आशंका होती है और यह फ़्लू इंसानों में भी फैल सकता है। लेकिन इस फ़्लू (Bird Flu) को लेकर कुछ भ्रम भी हैं। जैसे, क्या बर्ड फ़्लू फैलने पर हमें अंडे और मुर्ग़ी खाना बंद कर देना चाहिए?

विशेषज्ञ ऐसा नहीं मानते, उनका कहना है कि अगर माँस और अंडे, ठीक तरह से उबालकर खाये जायें, तो उन्हें खाया जा सकता है और वो सुरक्षित हैं।

आयु ऐप’ पर अब घर बैठे पाएं ऑनलाइन विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श। क्लिक करें 👇

Online Doctor Consultation through Aayu App
Online Doctor Consultation through Aayu App

3. बर्ड फ़्लू के लक्षण (Bird Flu symptoms)

बर्ड फ़्लू (Bird Flu) का कोई केस दर्ज नहीं किया गया है। लेकिन जब यह संक्रमण होता है, तो सबसे पहले साँस में तकलीफ़ होने लगती है। इस संक्रमण के होने पर निमोनिया जैसे लक्षण देखे जाते हैं। इस संक्रमण में बुख़ार, सर्दी, गले में ख़राश और पेट दर्द सामान्य लक्षण हैं।

4. बर्ड फ़्लू से बचाव के उपाय Prevention from Bird flu

जानकार यह भी कहते हैं कि जो सावधानियाँ कोरोना के समय में बरती गईं, वही सावधानियाँ बर्ड फ़्लू (Bird Flu) से बचाव में भी कारगर हैं। जल्दी-जल्दी हाथ धोना, सेनेटाइज़र का इस्तेमाल, चेहरे को कम से कम छूना – कुछ ऐसे उपाय हैं जो इस संक्रमण को फैलने से रोक सकते हैं।

साथ ही यह भी सलाह दी जाती है कि अगर आपके आसपास पक्षियों की अचानक अप्राकृतिक रूप से मृत्यु होती है, तो इसके बारे में स्थानीय प्रशासन को तुरंत सूचना दें।

ये भी पढ़ें-

डिस्क्लेमर- बर्ड फ़्लू और कोरोना वायरस जैसी नई बीमारियों की जानकारी अपने फोन पर रोज़ाना सुबह पाने के लिए डाउनलोड करें आयु ऐप।

आयु ऐप पर आपको तमाम बीमारियों के एक्सपर्ट डॉक्टर मिलेंगे। जिनसे आप 24×7 ऑनलाइन परामर्श ले सकते हैं, साथ ही घर बैठे ऑनलाइन दवाईयां भी मंगवा सकते हैं।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )