साबुन या हैंडवाश से हाथ धोने के फायदे | Daily Health Tip | 26 April 2020 | AAYU App

wash your hands with handwash

दिनभर हमारे हाथ बैक्टीरिया के संपर्क में आते है। इसलिए हाथों को खाना खाने के समय साफ रखना चाहिए। इसके लिए आप सोप या हैंडवाश का इस्तेमाल कर सकते है।

Our hands are exposed to bacteria throughout the day. Therefore, hands should be kept clean while eating. For this you can use soap or handwash.

Health Tips for Aayu App

होटल, रेस्टोरेंट, लाइब्रेरी, कम्प्यूटर किसी भी चीज का इस्तेमाल करने से पहले और बाद में हाथ जरूर धोएं। हाथ धोने का मतलब यह नहीं कि सिर्फ पानी से धो लें। हाथ धोने के लिए साबुन का इस्तेमाल करें और हाथ को अच्छी तरह रगड़ कर धोएं ताकि धूल-मिट्टी निकल जाएं।

हमें होने वाली अधिकांश बीमारियां हमारे हाथों से ही हमारे शरीर में प्रवेश करती है, वो भी कीटाणुओं के रूप में। इसलिए अपने हाथों को धोएं जिससे आपके हाथों में कीटाणु ना पनपे।

कीटाणु के शरीर में प्रवेश करने के तरीके:

अब आप ही एक बार इस बात पर गौर कीजिए कि दिन भर में आप कितनी चीजें को हाथ लगाते है जैसे टेबल, फोन, मोबाइल, परदे, खिड़की, दरवाजे, पेन और चाबियां। घर से लेकर बाहर तक न जाने कितनी चीजों को दिनभर हाथ लगाना पड़ता है, जिन्हें गिनना भी मुश्किल है। 

ऐसी चीजों पर मौजूद कीटाणु आपके हाथ से होते हुए आपके मुंह द्वारा शरीर में प्रवेश कर जाते है।हाथों से खाने वाली चीज़ों से भी कीटाणु सीधे आपके शरीर में प्रवेश कर जाते है।

हाथों को साफ रखने का तरीका:

दिनभर हाथ में दस्ताने पहन कर काम करना यों भी मुश्किल होता हैं क्योंकि इन कीटाणुओं से तभी बचा जा सकता है। मगर एक उपाय और भी है, जिससे इन कीटाणुओं से होने वाली बीमारी से आसानी से बचा जा सकता है वह है- हैंडवाश। हैंडवाश यानी हाथ को ठीक से धोना से आप कीटाणुओं से बच सकते है।

बच्चों में हाथ ना धोने से फैलने वाली बीमारियां:

हर साल लगभग 40 लाख से भी ज्यादा बच्चे दस्त के कारण संक्रमण के शिकार हो जाते है। जिससे उनकी मौत तक हो जाती है। इनमें पांच साल से कम उम्र के बच्चों की संख्या ज्यादा होती है। गंदे हाथों से फैलने वाली बीमारियों में इंफ्लुएंजा, जुकाम और आंखों में इंफेक्शन और सांस के रोग सामान्य है। गंदे हाथों से छोटे बच्चों में दस्त होने की समस्या सामान्य है। दस्त से हुए संक्रमण से बच्चों की जान भी चली जाती है। हेल्दी हैंडवाश की आदत बच्चों को ऐसी जानलेवा बीमारी से बचाने में मदद करती है।

हेल्दी हैंडवाश का तरीका:

हेल्दी हैंडवाश का तरीका शायद ही लोगों को पता होगा। अत: अच्छी तरह हाथ धोना बचपन से ही सिखाना जरूरी है। हैंडवाश के लिए साधारण साबुन और मिट्टी इस्तेमाल करना गलत है।

इससे हाथ के कीटाणु मरते नहीं बल्कि और बढ़ जाते है साथ ही बीमारी भी फैलती है। अगर आप यह सोचते है कि किसी भी बीमारी के लिए एंटीबायोटिक देना सबसे बेहतर तरीका है, तो यह गलत है। बीमारी फैलाने वाले कीटाणु से बचने का सबसे बेहतर तरीका है हेल्दी हैंडवाश। यानि अच्छी तरह हाथ धोना।

हाथ धोने का समय:

खाने से पहले, किसी भी काम के बाद हाथ जरूर धोना चाहिए। अगर आप किसी घाव या चोट को छू रहे है, तो अपने हाथ जरूर धोएं। किसी भी चीज़ को इस्तेमाल करने से पहले हाथ जरूर धोएं। हाथ धोने का मतलब केवल पानी से हाथ धोना नहीं है।

हाथ धोने के लिए लिक्विड सोप का इस्तेमाल सबसे बेहतर तरीका है। ढंग से हाथ धोने से करीब 99 फीसद कीटाणु निकल जाते है। और इनसे आप बिमारियों से भी बच सकते है।

साबुन से हाथ धोने के फायदे:

  • साबुन से हाथ धोने पर हाथों में लगे कीटाणु खत्म हो जाते है। 
  • इन साफ हाथों से यदि कुछ भी खाएं तो इससे रोग मुक्त भोजन शरीर में जाता है और व्यक्ति बीमार नहीं होता। 
  • विद्यार्थी जीवन में यदि स्वच्छ आदतें अपनाई जाएं तो बीमारी दूर रहती हैै और ऐसे में व्यक्ति बार -बार बीमार नहीं पड़ता।
  • मौसमी फ्लू से बचने के लिए सबसे कारगर तरीका है कि अपने हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं।
  • जानवरों को नहलाने, धुलाने के बाद, जख्मी व्यक्ति के घाव साफ करने के बाद खाना बनाने व खाना खाने के पहले व बाद में हाथों को धोना अत्यंत अनिवार्य है। 

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.