fbpx

ताड़ासन आसन के फायदे | Daily Health Tip | Aayu App

ताड़ासन आसन के फायदे | Daily Health Tip | Aayu App

ताड़ासन एक तरह का आसन है जिसे सुबह उठकर करना बेहतर माना जाता है क्योंकि यह बॉडी को स्ट्रेच करता है जिससे आपकी बॉडी अकड़ती नहीं है।

It is beneficial to include Tadasan in your morning routine. It is a type of Yogasan that stretches our body which prevents body stiffness.

Health Tip for Aayu App

ताड़ासन या माउंटेन पोज योग के मूल्य आसनों में से एक है। इसका नाम दो संस्कृत शब्दों से मिलकर बना हुआ है। आइये जानते है ताड़ासन आसन के फायदे। इसमें ताड़ का मतलब पर्वत और आसन का मतलब मुद्रा है। यह आसन करना आसान है लेकिन इसके कई स्वास्थ्य लाभ है।

हैंडस्टैंड या शीर्षासन जैसे अन्य महत्वपूर्ण स्टैंडिंग पोज़ करने के लिए, आपको सबसे पहले माउंटेन पोज़ को सीखने और इसका अभ्यास करने की ज़रूरत है। यह आमतौर पर योग क्लास में सिखाए जाने वाले पहले शुरुआती आसनों में से एक है। इसके अभ्यास से आपके पूरे शरीर और दिमाग को फायदा होता है।

इस आसन को परफॉर्म करते समय, आप जमीन पर स्थिर रहें और धरती से जुड़ें ताकि शरीर में ऊर्जा का प्रवाह हो सकें। ताड़ासन योग मुद्रा अपने शरीर की लंबाई बढ़ाने और पैरों से लेकर बाजुओं तक शरीर को स्ट्रेच करने के लिए प्रभावी तौर पर काम करता है। आइए जानते हैं ताड़ासन (माउंटेन पोज़) आसान के फायदे और ताड़ासन कैसे करें?

सबसे पहले जानते है ताड़ासन आसन के फायदे।

ताड़ासन आसन के फायदे:

पीठ के दर्द से राहत दिलाएं: अगर आपको पीठ के दर्द की शिकायत रहती है तो यह आसन आपके लिए बहुत लाभकारी है। इसका सही तरह से अभ्यास करने से पीठ के दर्द की समस्या कम करने में मदद मिलती है। जब आप इस आसन का अभ्यास करते हुए शरीर को ऊपर की ओर लिफ्ट करते हैं तो स्ट्रेचिंग करने से कमर दर्द से आराम मिलता है।

पोस्चर में सुधार लाएं: अगर आपकी जीवनशैली बेहद सुस्त या गतिहीन है तो यह आसन आपको हर रोज करना चाहिए क्योंकि यह अधिक देर तक बैठे रहने या लेटे रहने से खराब हुए पोस्चर में सुधार करता है। ताड़ासन का अभ्यास आपकी रीढ़ के पोस्चर को सुधारता है। जब आप इस आसन का अभ्यास नियमित रूप से करेगे, तो आप ध्यान देंगे कि पहले से स्थिर रूप से खड़े होने लगे हैं और आपकी मुद्रा में सुधार हुआ है।

लंबाई बढ़ाने में मदद करें: अगर आप इस आसन का अभ्यास जल्दी ही शुरू कर देते हैं तो यह आपको लंबाई बढ़ाने में मदद करता है। अगर आपके लिए बहुत देर हो चुकी है, तो आप अपने बच्चों को ताड़ासन का अभ्यास शुरू करने के लिए कहें।

मानसिक जागरूकता बढ़ाएं: योग में केवल मूवमेंट ही नहीं है बल्कि ध्यान भी होता है। यह आसन आपको अपनी चेतना से जुड़ने में मदद करता है और मानसिक जागरूकता बढ़ाता है। इसके अभ्यास से अधिक सतर्क, शांत और रचनाशील महसूस करते है साथ ही यह एकाग्रता में सुधार करने के लिए प्रभावी है।

घुटनों के दर्द से राहत दिलाएं: अगर आप घुटने के दर्द से परेशान हैं तो आपको इस आसन का अभ्यास करना चाहिए लेकिन ध्यान रहें कि इसके लिए आपको अपने तलवो को जमीन पर रख कर अभ्यास करना है और पैर की अंगुलियों पर खड़े नहीं होना है।

ताड़ासन कैसे करें?

  • सीधे खड़े हो जाए और पैरों के बीच कुछ दूरी रखें।
  • दोनों हाथों को अपने शरीर के पास सीधा रखें।
  • अब गहरी सांस लेते हुए अपनी दोनों बाजुओं को सिर के ऊपर उठाएं और अपनी उंगलियों को आपस में बांध लें।
  • हाथों को सीधा रखें और स्ट्रेच करें।
  • अपनी एड़ी उठाते हुए अपने पैर की उंगलियों पर खड़े हो जाएं।
  • इस दौरान आपके शरीर में पैरों से लेकर हाथों की उंगलियों तक स्ट्रेच महसूस होना चाहिए।
  • 10 सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और सांस लेते रहें।
  • अब सांस छोड़ते हुए अपनी शुरुआती अवस्था में आ जाएं।
  • इस आसन को 10 बार दोहराएं।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )