हरे चने के फायदे,ग्लोइंग फेस के लिए उपयोगी है हरा चना | Green Gram Benefits, Benefits of Green Gram for Face

Benefits of Green Gram for Face

Benefits of Green Gram for Face: सर्दी का मौसम खाने-पीने का मजा लेने के लिए अच्छा होता है। हम सर्दियों में ब्रोकली, पालक, मटर, मेथी, बथुआ, गाजर, चुकंदर खाते है जो स्वाद में भी अच्छी होती है लेकिन हम एक चीज नजरअंदाज कर देते है वह है हरा चना। आइये जानते है हरे चने के फायदे (Green Gram Benefits) और ग्लोइंग स्किन के लिए उपयोगी है दाल चना (Benefits of Green Gram for Face).

हरे चने के फायदे: Green Gram Benefits in Hindi:

सेहत को पूरी तरह तंदरुस्त रखने के लिए लोग कई तरह का डाइट प्लान अपनाते है लेकिन कई बार छोटी चीजों को पूरी तरह नजरअंदाज कर देते है जो सेहत के लिए गुणकारी है। ऐसी ही एक चीज़ है हरा चना।

भूख लगने से बचाएं: एक रिसर्च में पाया गया है कि चने आपको भूख लगने से बचाते है क्योंकि चने के अंदर प्रोटीन और फाइबर होता है जिससे आपको भूख नहीं लगती।

वजन कम करने में मददगार: चने आपका वजन कंट्रोल करने में मदद कर सकता है। यह एक तरह का कम कैलोरी का पदार्थ है। अगर आप कम कैलोरी वाले पदार्थ खाते है तो आपका वजन मेंटेन भी रहता है। चने में प्रोटीन और फाइबर होता है जिससे हमें कम भूख लगती है जिसकी वजह से हम बार-बार खाना नहीं खाते है जिससे मोटापा कम करने में मदद मिलती है। मोटापे के शिकार वो लोग होते है जो भूख लगने पर बार-बार कुछ ना कुछ खाते रहते है।

ब्लड शुगर कंट्रोल करें और मधुमेह से बचाएं: चने के अंदर कई तरह के तत्व होते है जो हमारे शरीर के अंदर रक्त शर्करा (रक्त के अंदर शुगर की मात्रा) को कम करते है। फाइबर और चने के अंदर मौजूद कार्बोहाइड्रेट धीरे-धीरे पचते है। प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ खाने से टाइप-2 मधुमेह वाले व्यक्तियों में स्वस्थ स्वस्थ रक्त शर्करा को बनाने में मदद करता है।

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद: चने के अंदर घूलनशील फाइबर होता है। घूलनशील फाइबर से मतलब है ऐसे फाइबर जो पानी में आसानी से घुल जाएं। घुलनशील फाइबर आंत के अंदर आंत के अंदर स्वस्थ जीवाणुओं की संख्या को बढ़ाता है और खराब बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करता है। यह पाचन से जुडी समस्याओं को कम कर सकता है।

यदि आप पाचन संबंधी समस्याओं से झुझ रहें है तो चने को रात में भिगोकर रखें और सुबह उठकर उनका सेवन करें। यह कब्ज की समस्या से राहत दिलाता है।

दिल की बीमारी से दूर रखें: रिसर्च बताते है कि चने आपके दिल को मजबूत बनाते है। चने के अंदर मैग्नीशियम और पोटैशियम होता है जो दिल के लिए अच्छा होता है। यह उच्च रक्तचाप रोकने में भी मदद करता है।

चयापचय (मेटाबोलिज्म) में उपयोगी: मधुमेह के रूप में मोटापा, उच्च रक्तचाप और ग्लूकोज चयापचय सिंड्रोम के नाम से जाना जाता है। टाइप-2 डायबिटीज, उच्च रक्तचाप वाले रोगियों की कमी है।

सेहत के लिए हरे चने बहुत फायदेमंद है। आइये जानते है हरे चने के फायदे के बारे में। हरे चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, आयरन और विटामिन जैसे तत्व अच्छी मात्रा में मौजूद होते है जो हमारी सेहत को स्वस्थ रखते है। इसका नियमित इस्तेमाल से शरीर में कई गुणदायक असर देखने को मिलते है।

हरा चना शरीर को विटामिन देता है। इसमें क्लोरोफिल के साथ-साथ विटामिन A, E, C, K, और B काम्प्लेक्स मौजूद होते है। यह विटामिन स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है।

हरे चने का सेवन करने से कोलेस्ट्रोल कंट्रोल में रहता है। अगर कोलेस्ट्रोल कंट्रोल में नहीं रहता है तो दिल से जुड़ी परेशानी होने का खतरा ज्यादा रहता है। हरा चना दिल से जुड़ी गंभीर परेशानियों को दूर कर सकता है।

हरा चना शरीर को आयरन भी देता है। हरे चने में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। रोजाना हरे चने के सेवन से शरीर में खून की कमी दूर होती है।

हरा चना फाइबर का भी स्रोत है। हर दिन कम से कम एक कटोरी हरा चना खाने से शरीर में रोज की जरूरत का आधा फाइबर मिल जाता है। फाइबर की मदद से डाइजेशन अच्छा होता है।

आज के दौर में लोग अलग-अलग तरह की बीमारियों से ग्रस्त है। इनमें से एक ब्लड शुगर है। कई लोग ब्लड शुगर के कारण काफी दिक्कत से जूंझते है, लेकिन हरे चने के इस्तेमाल से ब्लड शुगर को दूर किया जा सकता है। इसके लिए एक सप्ताह तक आधी कटोरी हरे चने को खाना चाहिए। इससे ब्लड शुगर धीरे-धीरे कंट्रोल में आने लगता है।

हरा चना प्रोटीन से भरपूर होता है और यह मांसपेशियों की वृद्धि में मददगार है।

हरे चने में विटामिन बी 9 और फोलेट भी मौजूद होते है जो सर्दी में आपके दिमाग से लड़ते है। फोलेट तनाव से लड़ने में मदद करता है।

आगे भीगे चने के फायदे जानते है और इनको कब ना खाएं।

कई लोग सुबह खाली पेट भीगे चने (Soaked Gram) खाते है। सही कॉम्बिनेशन (Food Combinations) वाले खाने पर जोर दिया जाता है। हम अनजाने में कई ऐसी चीजों को एक साथ खा लेते है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते है।

अपनी सेहत को बनाने के लिए लोग अपना ख्याल रखते है। खान-पान से लेकर अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए लोग सुबह की डाइट (Morning Diet) में भीगे चने, बादाम (Almond) जैसी चीजों का सेवन करते है।

आइये जानते है भीगे चने के साथ क्या-क्या नहीं खाना चाहिए।

भीगे चने किसके साथ खाना हानिकारक है?: With which soaked gram is bad

सुबह खाली पेट भीगे हुए चने खाने के बाद कभी भी आचार का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि आचार को गलाने के लिए उसमें सिरका डाला जाता है और इसे चने के बाद खाना मतलब पेट में जहर बनने के बराबर होना होता है। भीगा हुआ चना और आचार का रिएक्शन एक साथ हो जाता है और पेट में जहर बनने के साथ-साथ इससे हार्ट की बीमार भी हो सकती है और कई बार तो हार्ट अटैक भी आ सकता है। इसके अलावा सीने में भी लगातार जलन और दर्द बना रहता है।

सुबह के समय भीगे हुए चने खाने के बाद कभी भी आपको करेले का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि भीगे हुए चने में जो ऑक्साइड पाया जाता है वह करेले मे भी पाया जाता है, लेकिन दोनों में अंतर यह होता है कि भीगे हुए चने में पाया जाने वाला ऑक्साइड लेवल बहुत कम होता है और करेले में पाया जाने वाला ऑक्साइड लेवल उससे ज्यादा होता है। इसकी वजह से यह हमारे शरीर में जा कर मिक्स होकर जहर बना सकता है। इस जहर का रिएक्शन धीरे-धीरे होता है और गंभीर बीमारी का रूप ले सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.