सोडा के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Drinking Soda in Hindi

सोडा के फायदे और नुकसान

सोडा दिखने में पानी जैसा लगता है, लेकिन इसके लाभ पानी से बहुत ज्यादा है। क्या आप जानते है सोडा घर पर भी बनाया जा सकता है। सोडा के फायदे और नुकसान दोनों होते है। आइये सबसे पहले जानते है सोडा क्या है? (What is Drinking Soda in Hindi) उसके बाद सोडा के फायदे और नुकसान भी जानेंगे।

सोडा क्या है?: What is Drinking Soda in Hindi:

सोडा वॉटर को आमतौर पर सोडा ही कहते है। यह एक ऐसी ड्रिंक है जिसमें एक निश्चित दबाव में कार्बन डाइऑक्साइड को पानी में मिलाया जाता है। सोडा को आप बिना कुछ मिलाए भी पी सकते है या फिर इसे किसी अन्य पेय पदार्थ जैसे फलों का जूस और कुछ शराब से जुड़े पेय पदार्थों के साथ मिलाकर पिया जा सकता है। आइये जानते है सोडा के फायदे और नुकसान।

सोडा के फायदे और नुकसान: Benefits and Side Effects of Drinking Soda in Hindi:

सबसे पहले जानते है सोडा के फायदे।

शरीर में पानी की कमी नहीं होती: कई लोग ऐसा सोचते है कि सोडा पीने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, लेकिन ऐसा नहीं है। सामान्य पानी की तरह सोडा भी पानी की कमी नहीं होने देता। सोडा शरीर से सारे विषाक्त पदार्थ निकालने में मदद करता है और आपको पूरा दिन हाइड्रेट रखते है। (यह भी पढ़ें: शरीर में पानी की कमी से कैसे बचें?)

ह्रदय रोग का जोखिम कम करें: एक स्टडी में पाया गया कि गर्भवती महिलाओं को सोडा पानी देने से उनमें ह्रदय रोग का खतरा कम होता है। इसके अलावा जो लोग सोडा पीते है, उन्हें पाचन से संबंधित परेशानी नहीं होती। सोडा पीने से पेट साफ रहता है। जो महिलाऐं सोडियम से भरपूर सोडा पानी पीती है, उनके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है और गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है। (यह भी पढ़ें: पाचन क्रिया को सही रखने वाले सप्लीमेंट्स)

विशेषज्ञ डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का घर बैठे पाएं समाधान, अभी परामर्श लें 👇🏽

Online Consultation through Aayu Card
Online Doctor Consultation through Aayu App

वजन कम करें: जैसा आप जानते है सोडा के फायदे और नुकसान दोनों है। सोडा के फायदे में वजन कम करना भी शामिल है। जब आप चीनी से समृद्ध पेय पदार्थों को कम कर देते है, तब कैलोरी लेने की मात्रा अपने आप कम हो जाती है। अगर आप रोजाना बिना कैलोरी वाला स्पार्कलिंग वाटर कुछ मात्रा में पिएंगे, तो इस तरह आप कैलोरी का सेवन कम कर पाएंगे और वजन भी धीरे-धीरे कम होने लगेगा।

शरीर से विषाक्त पदार्थ निकालें: अगर आप जानते है कि नल का पानी साफ व फिल्टर किया हुआ है, तो आपके लिए यह पानी पीना सुरक्षित है। अगर आप नल के पानी की जगह सोडा वॉटर पीते है तो उसकी फिल्टर करने की संभावना अधिक होती है क्योंकि कार्बन मिलाने से पहले ज्यादातर इसे साफ किया जाता है। इसी वजह से आप नल का गंदा पानी पीने से बच जाते है।

पेट भरा हुआ लगे: खाने से पहले ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए, जिससे आप जरूरत से अधिक खाना ना खा पाएं लेकिन सामान्य पानी के मुकाबले सोडा पानी पीने से आपको ज्यादा देर तक अपना पेट भरा हुआ महसूस होता है। एक स्टडी का कहना है कि सोडा वॉटर की वजह से खाना पेट में ज्यादा देर तक रहता है, जिससे आपका पेट जल्द ही भरा हुआ महसूस होता है। 

मोशन सिकनेस नहीं होने दे: सोडा वॉटर पीने से मतली और उल्टी और मोशन सिकनेस की समस्या नहीं होती। मोशन सिकनेस को कम करने के लिए सोडा वॉटर फायदेमंद होता है।

कब्ज नहीं होने दे: कब्ज ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति को मल बहुत कम आता है। जो लोग कब्ज की समस्या से परेशान होते है उन्हें पेट में गैस, पेट फूलने और मल त्याग करते समय दर्द महसूस होता है। एक स्टडी के अनुसार, सोडा पानी कब्ज का इलाज करने में मदद करता है। सोडा वॉटर पीने से मल त्याग करने में आसानी होती है और अन्य समस्याएं भी कम हो जाती है।

अब जानते है सोडा के नुकसान।

ह्रदय और किडनी की बीमारी हो सकती है: डाइट सोडा हो या सामान्य सोडा वॉटर हो इन सभी में फॉस्फेट, कार्बन और बहुत सारा फॉस्फोरिक एसिड होता है। यह घटक (Component) सोडा में एक तीखा स्वाद देते है और इस तरह सोडा पीने में मजा आता है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि यह घटक ह्रदय रोग और किडनी रोग का कारण बन सकते है? जब आप रोजाना सोडा पानी पीते है तो इससे ह्रदय और किडनी की समस्या, मांसपेशियों में मजबूती कम हो जाती है और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी गंभीर समस्या हो सकती है। यह सभी बीमारियाँ आगे जाकर बहुत बड़ी बन जाती है इस तरह आपकी स्थिति गंभीर हो जाती है।

पेट फूलने की समस्या हो सकती है: सोडा वॉटर पीने से पेट में बुलबुले बनने लगते है। इससे आपको तेज और बार-बार डकार आती है, जिसे नियंत्रित करना मुश्किल होता है। पेट में बनती गैस के कारण पेट फूलने और अन्य समस्याएं शुरू हो सकती है। अधिक मात्रा में सोडा पानी पीने से पेट दर्द और पेट फूलने की समस्या लंबे समय तक चल सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित इस लेख में सामान्य जानकारी दी गई है। अधिक जानकारी के लिए आज ही अपने फोन में आयु ऐपडाउनलोड कर घर बैठे विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श करें। स्वास्थ संबंधी जानकारी के लिए आप हमारे हेल्पलाइन नंबर 781-681-11-11 पर कॉल करके भी अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। आयु ऐप हमेशा आपके बेहतर स्वास्थ के लिए कार्यरत है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.