नारियल के तेल के फायदे और नुकसान

नारियल तेल के कई लाभ है। नारियल का तेल कई गुणों से भरपूर होता है। नारियल का तेल सेबम की तरह होता है, जो शरीर का अपना प्राकृतिक तेल होता है जो स्‍कैल्‍प को ड्राई होने से बचाने में मदद करता है और बालों की जड़ों को नुकसान नहीं होने देता।

नारियल के तेल के फायदे:

  • नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा को हटाकर रंग निखारता है, चूंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है, तो इसका इस्तेमाल त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में किया जा सकता है. नारियल तेल स्ट्रेच मार्क्‍स हटाने में भी मदद करता है और होंठ को फटने से बचाने के लिए भी इसे नियमित रूप से होंठ पर लगाया जा सकता है।
  • नारियल तेल बालों को घना, लंबा और चमकदार बनाने में काफी मददगार साबित होता है। सिर की मसाज पांच मिनट नारियल तेल से करने से न सिर्फ रक्त संचार में वृद्धि होती है, बल्कि खो चुके पोषक तत्वों की भरपाई भी करता है, नियमित रूप से नारियल तेल से मसाज करने से बालों में रूसी नहीं होती है।
  • नारियल तेल को मुंह में करीब 20 मिनट तक रखने के बाद थूक देने से मुंह के कीटाणु और मसूड़ों की समस्याएं दूर होती है। स्वस्थ मसूड़ों के लिए सप्ताह में कम से कम तीन बार ऐसा करें।
  • नारियल तेल के इस्तेमाल से वजन भी कम किया जा सकता है। ताजे नारियल से निकाले गए तेल में अन्य नारियल तेलों की अपेक्षा ज्यादा मीडियम चेन फैटी एसिड्स (70-85 प्रतिशत) होता है। मीडियम चेन फैटी एसिड्स आसानी से ऑक्सीडाइज्ड लिपिड्स होते हैं और एडीपोज ऊतक में संग्रहित नहीं होते है। इस प्रकार, मुख्य रूप से मीडियम चेन फैटी एसिड युक्त नारियल का तेल वजन घटाने में मददगार साबित होता है।
  • नारियल तेल लॉरिक एसिड और कैप्रिक एसिड की तरह एंटीमाइक्रोबियल लिपिड का एक समृद्ध स्रोत होता है, जो एंटीफंगल और जीवाणुरोधी होते है।

नारियल तेल के नुकसान:

  • नारियल तेल में सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा होती है और अगर इसका सेवन ज्यादा मात्रा में किया गया, तो यह नुकसान भी पंहुचा सकता है, क्योंकि नारियल तेल में मौजूद सैचुरेटेड फैट की अधिक मात्रा शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ा सकती है जो हृदय रोगों के लिए हानिकारक हो सकते है।
  • अगर आपकी त्वचा नारियल तेल के प्रति संवेदनशील है, तो इसका प्रयोग आपकी त्वचा में एलर्जी भी बढ़ा सकता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर की सलाह के बिना नारियल तेल का इस्तेमाल न करें।
  • हाइड्रोजनेटेड नारियल तेल से (अनसैचुरेटेड फैटी एसिड का छोटा भाग) से दूर रहना चाहिए, क्योंकि यह हानिकारक हो सकता है, क्योंकि अनसैचुरेटेड फैटी एसिड पॉलीअनसैचुरेटेड फैट वसा को बढ़ाने के रूप में रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में दोगुना प्रभावी है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.