तुलसी के पत्ते के फायदे और नुकसान | Daily Health Tip | 16 April 2020 | AAYU App

basil leaves benefits

तुलसी एंटीबायोटिक व दर्द निवारक होती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करती है। रोज सुबह 3 -5 तुलसी पत्तों का सेवन करें। यह आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा।

Basil is an antibiotic & pain reliever and increases the immunity. Eat 3-5 basil leaves daily. It will be very beneficial for you.

Health Tips for Aayu App

तुलसी पत्ते के फायदे:

बुखार कम करने में फायदेमंद: तुलसी में एंटीबैक्टीरिया, एंटीफंगल व एंटीबायोटिक प्रोपर्टीज होती है, जो बुखार को कम करने में लाभकारी होता है। बुखार चाहे इन्फेक्शन से हुआ हो या मलेरिया से हुआ हो। तुलसी उसे कम करने में सक्षम है। आयुर्वेद में बुखार के समय तुलसी का काढ़ा पीने की सलाह दी जाती है। यह बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।  

काढ़ा बनाने का तरीका – ½ लीटर पानी में कुछ तुलसी की पत्तियां व इलायची पाउडर डालकर, तब तक उबालें जब तक वो आधा ना रह जाये। इसमें आप दूध व शक्कर भी मिला सकते है। इसे मरीज को हर 2-3 घंटे में दें।

डायबिटीज से लड़ने में मददगार: शरीर में इन्सुलिन को बनाने व बनाये रखने वाले तत्व को तुलसी बाहर निकालती है। तुलसी ब्लड शुगर को कम करती है, जिससे डायबटीज कंट्रोल रहती है।

तनाव दूर करें: तुलसी शरीर में तनाव बढ़ाने वाले हार्मोन को बाहर निकालता है। इसे एंटी स्ट्रेस एजेंट भी कहते है। तुलसी हमारी सभी कोशिकाओं को सामान्य रूप से चलने में मदद करती है, खून का संचार अच्छे से करती है। ज्यादा तनाव होने पर 10-12 तुलसी दिन में 2 बार चबाएं, यह तनाव कम करता है।

पथरी की समस्या दूर करें:  किडनी में पथरी खून में यूरिक एसिड बढ़ने से होती है। तुलसी इस यूरिक एसिड को कम कर सकता है। तुलसी में मौजूद तेल पथरी को नष्ट करता है और यह एक तरह से दर्द निवारक भी है। इसलिए यह पथरी में होने वाले दर्द से आराम दिलाता है। यह पथरी की समस्या को दूर करने के लिए घरेलू इलाज है।

कैसे उपयोग करें – तुलसी के रस को निकालकर उसमें शहद मिलाएं। अब इसे कम से कम 6 महीने तक रोज पियें। किडनी से पथरी बिना किसी इलाज के बाहर निकल जाएगी।

कैंसर से लड़ने में मदद करें: तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होने के कारण ये ब्रैस्ट कैंसर व तम्बाकू से होने वाले मुंह के कैंसर में आराम देती है। रोज तुलसी चबाने से कैंसर की कोशिकाएं शरीर में बढ़ नहीं पाती है।

स्मोकिंग छुड़ाने में मददगार: तुलसी में एंटी स्ट्रेस एजेंट होते है, जो स्मोकिंग छोड़ने में मदद करते है। तनाव कम होने से सिगरेट पीने की इच्छा कम होती है, जिससे आप स्मोकिंग आसानी से छोड़ सकते है। जब ही सिगरेट पीने की इच्छा होने लगे तुलसी की कुछ पत्तियां लेकर चबाने लगे। स्मोकिंग से आपके शरीर को होने वाले नुकसान को तुलसी रिकवर कर देती है।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं: तुलसी शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढाती है। चाय में तुलसी डालकर पीना ठंड व बरसात के दिनों में बहुत फायदेमंद होता है।

दर्द मिटाएं: किसी भी कारण से होने वाले सिरदर्द को तुलसी की पत्ती ठीक कर सकती है। तुलसी में दर्द मिटाने के तत्व मौजूद होते है जिसे खाने से आपको सभी तरह के दर्द से आराम मिलेगा। 

कैसे उपयोग करें– एक पतीले में पानी लें, उसमे कुछ तुलसी की पत्तियां डालें, अब इसे उबालें. थोडा ठंडा कर इसमें तोलिया भिगोकर निचोड़े अब इसे अपने सिर में बांध लें। इससे बहुत जल्द सिरदर्द ठीक हो जायेगा। इसके अलावा आप तुलसी की पत्ती की जगह उसमें तुलसी का तेल भी डाल सकते है।

दस्त-उल्टी दूर करें: इस समस्या को भी तुलसी आसानी से दूर कर देती है। दस्त होने पर तुलसी की कुछ पत्तियों को पीस कर उसमें शहद व जीरा पाउडर मिलाएं अब इसे मरीज को हर 2 घंटे में दें। इसके अलावा उल्टी होने पर तुलसी के रस में अदरक का रस व छोटी इलायची का पाउडर मिलाकर पीना चाहिए।

तुलसी की पत्तियों के नुकसान:

तुलसी के अधिक सेवन से यूजोनोल की अधिक मात्रा हो जाती है, जो कि बहुत नुकसान पहुंचाता है। यह कई हानिकारक चीजों जैसे सिगरेट आदि में पाया जाता है। इससे खांसी के दौरान खून, तेजी से श्वास और मूत्र में खून जैसी समस्या हो जाती है।

तुलसी खून को पतला करता है इसलिए इसे किसी अन्य दवा के साथ नहीं लेना चाहिए।

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.