अस्थमा के लक्षण और उपचार जानें | Daily Health Tip | Aayu App

Asthma Symptoms

अस्थमा के कारण आपको बार-बार साँस फूलने की समस्या हो सकती है। इससे बचाव के लिए लहसुन का सेवन करें।

Asthma can often cause breathing issues. Consumption of Garlic can help avoid the problems.

Health Tip for Aayu App

एलर्जिक अस्थमा (Allergic Asthma) के दौरान किसी विशेष चीज से एलर्जी होती है जैसे धूल मिट्टी के सम्पर्क में आते ही साँस फूलने लगना या मौसम में बदलाव होना। नॉन एलर्जिक अस्थमा (Non Allergic Asthma) तब होता है जब कोई बहुत अधिक तनाव में हो या बहुत सर्दी या खाँसी जुकाम हो रहा हो। हम सबसे पहले आपको यहाँ एलर्जी अस्थमा के लक्षण के बारे में बताते है।

एलर्जी अस्थमा के लक्षण:

  • बार-बार खाँसी आना।
  • साँस लेते समय सीटी जैसी आवाज आना।
  • छाती में भारीपन।
  • साँस फूलना
  • खाँसी के समय कठिनाई होना और कफ ना निकल पाना।
  • गले का ब्लॉक और ड्राई होना।
  • बेचैनी होना।

दमे का उपचार:

लहसुन खाएं: दमा के उपचार में आप लहसुन का इस्तेमाल कर सकते है। यह अस्थमा के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक होता है। इसके लिए आप 30 मि.ली. दूध में लहसुन की पाँच कलियाँ उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करें जिससे अस्थमा का जड़ से इलाज हो सकें।

अंजीर खाएं: अंजीर के सूखे फल गुणकारी होते है। यह कफ को जमने से रोकते है। सूखी अंजीर को गर्म पानी में रातभर भिगोकर रखें। सुबह खाली पेट इसे खाएं। ऐसा करने से श्वास नली में जमा बलगम ढीला होकर बाहर निकलता है और इससे संक्रमण से भी राहत मिलती है।

अजवाइन खाएं: अस्थमा से बहुत लोग पीड़ित रहते है। अस्थमा का जड़ से इलाज करने के लिए आप अजवाइन डालकर उबालें और इस पानी से भाप लें।

मैथी खाएं: मैथी हर जगह दिखता है। आप मैथी के इस्तेमाल से अस्थमा का इलाज कर सकते है। अस्थमा का घरेलू उपचार (Home remedies for Asthma) करने के लिए आप मैथी का प्रयोग कर सकते है। शरीर की भीतरी एलर्जी को खत्म करने में मैथी सहायक है। मैथी के कुछ दानों को एक गिलास पानी के साथ तब तक उबालें जब तक पानी एक तिहाई ना हो जाए। इस पानी में शहद और अदरक का रस मिलाकर रोज सुबह-शाम इसका सेवन करें।

अदरक खाएं: अस्थमा का जड़ से इलाज करने के लिए आप अदरक का इस्तेमाल करें। अदरक की चाय में लहसुन की दो पिसी हुई कलियाँ मिलाकर पिएँ। अदरक का एक चम्मच ताजा रस, एक कप मैथी का काढ़ा और स्वादानुसार शहद मिश्रण में मिलाएँ।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.