एसिड रिफ्लक्स क्या है, लक्षण और बचाव | Daily Health Tip | Aayu App

Acid Reflux

जब पेट में मौजूद अम्ल (acid) पेट के ऊपर स्थित इसोफेगस में चले जाते है तो इस स्थिति को एसिड रिफ्लक्स कहते है। इससे बचने के लिए आप सोने से 2-3 घंटे पहले कुछ भी खाने से बचें।

When the acid present in the stomach moves into the esophagus above the stomach, this condition is called acid reflux. To avoid, eat 2-3 hours before bedtime.

Health Tips for Aayu App

एसिड रिफ्लक्स एक ऐसी स्थिति है जिसमें पेट में मौजूद अम्ल (Base) वापस इसोफेगस (Esophagus) में जाने लग जाते हैं। गले और पेट को आपस में जोड़ने वाली ट्यूब को इसोफेगस या भोजन नली (Food Pipe) कहा जाता है। यदि आपको एसिड रिफ्लक्स की समस्या कभी-कभी होती है, तो इसमें आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। यह स्थिति आमतौर पर अत्यधिक मात्रा में खाने या पीने के कारण हो सकती है।

पेट में दबाव बढ़ जाने के कारण भोजन नली की वाल्व खुल जाती है, जिसके कारण एसिड रिफ्लक्स होने लग जाता है। कुछ स्थितियाँ हैं, जो पेट में दबाव बढ़ा देती हैं जैसे अधिक भोजन खाना, मोटापा, अधिक मसालेदार खाना आदि।

जिन लोगों के शरीर का वजन सामान्य है और वह मसालेदार भोजन बिलकुल नहीं खाते, तो मसालेदार खाना, मोटापा और अत्यधिक मात्रा में भोजन खाने से उनको निश्चित रूप से एसिड रिफ्लक्स की समस्या हो सकती है। एसिड रिफ्लक्स में सीने में जलन, खाया हुआ भोजन वापस गले में आना (रिगर्जिटेशन), मुँह का स्वाद खराब होना, छाती में दर्द, गला बैठना जैसी तकलीफ महसूस होना आदि समस्या होने लगती है। 

डॉक्टर इस स्थिति का परीक्षण मरीज के लक्षणों व उसकी पिछली मेडिकल स्थिति के आधार पर करते हैं इसके अलावा परीक्षण करने के लिए कुछ टेस्ट भी किए जा सकते हैं। परीक्षण के दौरान पेट व भोजन नली के एक्स-रे व एंडोस्कोपी टेस्ट किए जाते हैं और इसके अलावा 24 घंटे की प्रोब स्टडी भी की जाती है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए डॉक्टर कुछ दवाएं लिख सकते हैं जैसे एंटासिड्स, प्रोटोन पंप इनहीबिटर और इसके अलावा कुछ मामलों में सर्जरी की आवश्यकता भी पड़ सकती है। 

एसिड रिफ्लक्स के लिए घरेलू उपचार भी हैं, जिनमें जीवनशैली, आहार व अन्य आदतों में बदलाव शामिल हैं। एसिड रिफ्लक्स से अन्य कई समस्याएं पैदा हो सकती है जैसे अस्थमा, खांसी, फेफड़ों में सूजन व जलन व लालिमा हो जाना।

एसिड रिफ्लक्स क्या है?

जब पेट में मौजूद अम्ल (Base) पेट के ऊपर स्थित इसोफेगस में चले जाते हैं, तो इस स्थिति को एसिड रिफ्लक्स कहा जाता है। इसोफेगस को भोजन नली भी कहते है, यह नली गले और पेट को एक दूसरे से जोड़ती है। एसिड रिफ्लक्स के दौरान पेट से आया हुआ भोजन या खट्टे तरल का स्वाद महसूस होता है और साथ ही सीने में जलन महसूस होती है।

एसिड रिफ्लक्स के लक्षण:

  • सीने में जलन (इस स्थिति में गले और पेट के बीच में जलन महसूस होने लगती है, जो खासकर भोजन करने के बाद शुरू होती है)
  • इसोफेजाइटिस (भोजन नली) में सूजन व दर्द होना
  • मुँह में बदबू आना
  • पेट फूलना व डकार आना
  • बीमार पड़ जाना
  • निगलने के दौरान दर्द या तकलीफ होना
  • अचानक से अधिक थूक आना
  • गले में गांठ जैसा महसूस होना
  • दांतों के रोग का और गंभीर हो जाना
  • बार-बार लंग इंफेक्शन होना
  • लंबे समय से साइनस होना
  • गला घुटने जैसा महसूस होना
  • लंबे समय से गले में दर्द होना
  • लेरिंजाइटिस या गला बैठना
  • मसूड़ों में सूजन आना

एसिड रिफ्लक्स के कारण:

पेट में शक्तिशाली अम्ल (Base) होते हैं, जो भोजन को छोटे टुकड़ों में तोड़ते है और बैक्टीरिया जैसे रोगाणुओं से बचाते हैं। पेट की अंदरुनी परत सुरक्षित होती है और विशेष रूप से पेट के अम्ल (Base) के अनुकूल होती है, लेकिन भोजन नली (Food Pipe) की परत इनके अनुकूल नहीं होती। 

भोजन नली का निचला हिस्सा जो पेट से जुड़ा होता है, उसमें मांसपेशियों से बनी एक वाल्व लगी होती है। इस वाल्व का काम खाद्य पदार्थों को भोजन नली से पेट तक पहुँचाना होता है और पेट में मौजूद अम्ल (Base) व भोजन को वापस भोजन नली में जाने से रोकना होता है। जब ये वाल्व काम करना बंद कर देता है, तो पेट में मौजूद अम्ल (Food Pipe) व भोजन वापस भोजन नली में जाने लग जाते हैं। 

एसिड रिफ्लक्स का एक कारण पेट संबंधी असामान्यता भी है, जिसे हाइटल हर्निया कहते है। इस स्थिति में पेट का एक हिस्सा छाती के क्षेत्र में चला जाता है।

आमतौर पर, डायाफ्राम भी एसिड को पेट के अंदर रखने में मदद करता है। लेकिन हाइटल हर्निया के मामलों में पेट के अम्ल इसोफेगस में आने लग जाते हैं जिससे एसिड रिफ्लक्स के लक्षण पैदा हो जाते हैं। 

एसिड रिफ्लक्स से बचाव:

एसिड रिफ्लक्स से बचने के लिए कुछ तरीके:

  • पेट के दबाव को कम करना जैसे पैंट की बेल्ट को अधिक टाइट ना बांधना और ना ही ऐसी एक्सरसाइज करना जिससे पेट में दबाव बढ़ता है
  • शरीर की पॉजिशन में सुधार करना
  • ढीले-ढाले कपड़े पहनना
  • यदि आप मोटे हैं या आपके शरीर का वजन ज्यादा है, तो शरीर का वजन कम करना
  • धूम्रपान ना करना
  • दिनभर में थोड़ा-थोड़ा करके कई बार खाना
  • आपके सिर वाली तरफ से आपके बिस्तर को कम से कम 4 से 6 इंच तक ऊपर उठाना
  • सोने से 2 या 3 घंटे पहले कुछ ना खाना
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करना और स्वस्थ आहार खाना
  • इसके अलावा डॉक्टर से बात करके पता लगाने की कोशिश करें कि कहीं किसी दवा के कारण आपको एसिड रिफ्लक्स की समस्या या उससे लक्षण पैदा नहीं हो रहे हैं।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाऊनलोड करें । क्लिक करें  

Leave a Reply

Your email address will not be published.