धनिए के 8 स्वास्थ्य लाभ | Daily Health Tip | Aayu App

धनिया के 8 स्वास्थ्य लाभ

डायबिटीक लोगों के लिए धनिए के बीज का सेवन काफी फायदेमंद है। यह कॉलेस्ट्रोल और फैट के लेवल को कम करने में मदद करता है।

Consumption of coriander seeds is very beneficial for diabetic people. It helps to reduce cholesterol and fat levels in the body.

Health Tip for Aayu App

धनिया भारतीय रसोई के महत्वपूर्ण मसालों में से एक है। हरी धनिया पत्ती, साबुत धनिया और धनिया पाउडर खाने को बेहतरीन स्वाद देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है, लेक‍िन इसके अलावा यह कई सारे फायदों से भी भरपूर होता है। धनिया में फ्लेवोनोइड, पॉलीफेनोल, बी-कैरोटीनोइड, आयरन, कैल्शियम, मिनरल्स, फाइबर, मैग्नीशियम के साथ-साथ विटामिन ए, के और सी पाए जाते हैं।

आयुर्वेद में भी इसके औषधीय गुण बताए गए हैं। धनिए के बीज और पत्तियाँ एंटी-इन्फ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी (Antibacterial) होते हैं।

आइये जानते है धनिए के 8 स्वास्थ्य लाभ।

धनिए के 8 स्वास्थ्य लाभ: 8 Health Benefits of Coriander in Hindi:

पीलिया दूर करने में फायदेमंद: पीलिया की समस्या होने पर सूखा धनिया, मिश्री, आंवला, गोखरू व पुनर्नवा जड़ को बराबर मात्रा में पीस लें। सुबह-शाम 1 चम्मच चूर्ण आधा गिलास पानी के साथ लेने से पीलिया में, लिवर की सूजन और पेशाब कम आने जैसी प्रॉब्लम में आराम मिलता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद: धनिए के 8 स्वास्थ्य लाभ में डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद भी शामिल है। आयुर्वेद के अनुसार, डायबिटीक लोगों के लिए धनिए के बीज का सेवन करना काफी फायदेमंद है। यह कॉलेस्ट्रोल और फैट के लेवल को कम करने में मदद करता है। इसके बीज में मौजूद फ्लेवोनोइड, पॉलीफेनोल, बी-कैरोटीनोइड जैसे कंपाउंड खून में एंटी-हाइपरग्लाइकेमिक, इंसुलिन डिस्चार्जिंग और इंसुलिन प्रोडयूस करते हैं, जिससे आपके ब्‍लड ग्लूकोज के लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। डायबिटीज रोगी 10 ग्राम साबुत धनिया लेकर इसे 2 लीटर पानी में भिगोकर रातभर ढंककर रख दें। सुबह इसे छानकर खाली पेट पिएँ।

मुँह के छालों से आराम दिलाएँ: मुँह में छाले होना आम समस्‍या है। इस समस्‍या से नि‍जात पाने के लिए 1 चम्मच धनिया पाउडर लेकर उसे 250 मिलीलीटर पानी में अच्छी तरह मिलाएं, फिर इस पानी को छान लें। दिन में 2-3 बार इस पानी से कुल्ला करें।

पीरियड के दर्द में फायदेमंद: गर्भाश्य में संकुचन की वजह से पीरियड के दौरान पेट और कमर में असहनीय दर्द होता है। इस दर्द से राहत पाने के लिए धनिया के बीज की चाय बनाकर पीने से लाभ मिलता है, इसके लिए चाय बनाते समय उसमें आधा चम्मच साबुत धनिया डाल दें। धनिया में मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी व एनाल्जेसिक, एक दवाई की तरह काम करके दर्द को कम करता है।

वजन घटाने में असरदार: वजन घटाने के लिए धनिया का पानी पीना फायदेमंद माना जाता है। रोजाना सुबह खाली पेट इसे पीने से कुछ ही दिनों में असर दिखाई देने लगता है। धनिया के बीज, मेथी के दाने,जीरा और काली मिर्च डालकर रातभर भिगोकर रख दें। सुबह इसे छलनी से छान लें फिर इस पानी में नींबू का रस और शहद मिलाकर खाली पेट पिएँ।

कंजंक्टिवाइटिस से राहत दिलाएं: कंजंक्टिवाइटिस की समस्या होने पर आँख की पलकों के अंदर और बाहर इंफ्लामेशन के कारण सूजन, खुजली, जलन होने के साथ-साथ आँखें लाल हो जाती हैं। धनिया के बीज में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण इंफ्लामेशन को बढ़ावा देने वाले साइटोकिन्स कंपाउंड से लड़ने में मदद करते हैं।

हेल्दी स्किन में मददगार: धनिए के 8 स्वास्थ्य लाभ में हेल्दी स्किन में मददगार है। धनिया त्वचा के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। धनिया के बीज में विटामिन-सी, एंटी- बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह स्किन को हेल्दी रखने के अलावा एंटी-एजिंग और दाग-धब्बे दूर करता है, सनबर्न से राहत दिलाने में मदद करता है और स्किन को मॉइश्चराइज रखता है। रातभर एक चम्मच धनिया को एक कप पानी में भिगोकर रखें। सुबह इस पानी को रुई की मदद से चेहरे पर लगाएं।

हृदय रोग में लाभदायक: धनिया के बीज कॉलेस्ट्रोल और फैट के लेवल को कंट्रोल में रखने के साथ-साथ हृदय रोगों के जोखिम को भी कम करने में सहायक होते हैं। कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड्स हृदय संबंधी बीमारियों का कारण होते हैं। धनिया के बीज में हाइपोलिपिडेमिक होता है, जो शरीर में मौजूद ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम कर द‍िल को स्वस्थ रहता है।

यह भी पढ़ें: डायबिटिक मरीज का खाएं

धनिया के नुकसान: Side Effects of Coriander in Hindi:

  • कामशक्ति कम कर देता है।
  • मासिक धर्म रुक सकता है।
  • दमे के रोगी को नुकसान पहुँच सकता है।
  • पेट की गैस की समस्या में धनिया डालकर पकाए हुए पानी का सेवन करना लाभदायक होता है।

यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा आयु ऐप (AAYU App) पर डॉक्टर से संपर्क करें.

फ्री हैल्थ टिप्स अपने मोबाइल पर पाने के लिए अभी आयु ऐप डाउनलोड करें । क्लिक करें   

Leave a Reply

Your email address will not be published.