11 WAYS TO PREVENT HEADACHE | सिरदर्द से परेशान, अपनाएं ये 11 कारगर उपाय

हम में से कितने लोग हैं जो आए दिन सिरदर्द (Headache) से परेशान रहते हैं? लगभग सभी। सिरदर्द (Headache) एक आम समस्या है जिससे हर किसी को कभी ना कभी दो-चार होना पड़ता है। कुछ लोगों में यह बार-बार होता है अतः ऐसी स्थिति में वो कुछ तरीके अपनाकर सिरदर्द (Headache) की तीव्रता के साथ उसे बार-बार होने से रोक सकते हैं।

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन (WHO) के अनुसार विश्व स्तर पर सिरदर्द (Headache) की समस्या लगभग 50% वयस्कों में देखी गयी है। दुनिया में 18 से 65 वर्ष की आयु के आधे से तीन चौथाई वयस्कों को सिरदर्द होता है।  

जानें किन 11 तरीकों को अपनाकर आप सिरदर्द से आराम पा सकते हैं:

1.आहार में मैग्नीशियम लें

मैग्नीशियम शरीर में कई आवश्यक कार्यों जैसे रक्त शर्करा नियंत्रण और तंत्रिका तंत्र के सही कार्य करने के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज है।

मैग्नीशियम को सिरदर्द (Headache) के लिए एक सुरक्षित, प्रभावी उपाय माना गया है।

जिन लोगों में मैग्नीशियम की कमी होती है उनमें माइग्रेन (Migraine) या सिरदर्द (Headache) उन लोगों की तुलना में ज़्यादा होता है जिनमें मैग्नीशियम सही मात्रा में होता है।

अध्ययनों से पता चला है कि प्रति दिन 600 मिलीग्राम मैग्नीशियम साइट्रेट लेने से सिरदर्द की गंभीरता व उसके बार-बार होने को रोका जा सकता है।

2. पर्याप्त नींद लें

नींद की कमी कई मायनों में आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है, और कुछ लोगों में सिरदर्द (Headache) का कारण भी हो सकती है।

उदाहरण के लिए, एक अध्ययन के अनुसार उन लोगों में सिरदर्द बार-बार होता है, जो छह घंटे से कम सोते हो या ज़्यादा देर तक सोते हो। इसमें पाया गया कि जिन लोगों को कम नींद आती है, उनमें लगातार और गंभीर सिरदर्द होता है।

हालांकि, बहुत अधिक नींद लेना भी सिरदर्द (Headache) को ट्रिगर कर सकता है।

अतः एक अच्छे स्वास्थ्य व दिमाग के लिए हर रात 7-9 घंटे की नींद लें व सिरदर्द से बचें।

3. खाने में हिस्टामाइन की मात्रा कम लें

हिस्टामाइन शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला एक रसायन है जो प्रतिरक्षा, पाचन और तंत्रिका तंत्र के लिए आवश्यक है।

यह कुछ खाद्य पदार्थों जैसे एज्ड चीज, किण्वित भोजन, बीयर, शराब, स्मोक्ड मछली और मीट में भी पाया जाता है।

अध्ययन से पता चलता है कि हिस्टामाइन का सेवन उन लोगों में माइग्रेन का कारण हो सकता है जो इसके प्रति संवेदनशील हैं। आहार से हिस्टामाइन युक्त खाद्य पदार्थों को हटाना उन लोगों के लिए एक उपयोगी है जिन्हें लगातार सिरदर्द (Headache) होता है।

4. एसेंशियल ऑयल्स का इस्तेमाल करें

एसेंशियल ऑइल के कई चिकित्सीय लाभ हैं जिनमें सिरदर्द (Headache) में आराम भी शामिल है।

सिर दर्द होने पर पुदीना और लैवेंडर एसेंशियल ऑइल विशेष रूप से सहायक होते हैं।

कनपटी या सिर के दोनों तरफ पेपरमिंट एसेंशियल ऑइल लगाने से ये तनाव व सिरदर्द में आराम देता है।

5. बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन लें

बी विटामिन पानी में घुलनशील सूक्ष्म पोषक तत्वों का एक समूह है जो शरीर में कई महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उदाहरण के लिए, वे न्यूरोट्रांसमीटर संश्लेषण में योगदान करते हैं और भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करते हैं।

कुछ बी विटामिन सिरदर्द (Headache) के खिलाफ सुरक्षात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

कई अध्ययनों से पता चला है कि बी विटामिन सप्लीमेंट राइबोफ्लेविन (बी 2), फोलेट, बी 12 और पाइरिडोक्सिन (बी 6) सिरदर्द के लक्षणों को कम कर सकता है।

बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन में बी के सभी आठ विटामिन होते हैं और यह प्राकृतिक रूप से सिरदर्द के लक्षणों का इलाज करने का एक सुरक्षित व किफायती तरीका है।

बी विटामिन को नियमित रूप से लेने के लिए सुरक्षित माना जाता है, क्योंकि वे पानी में घुलनशील हैं और मूत्र के साथ आसानी से बाहर निकाल दिया जाता है।

6. बर्फ या ठन्डे पानी का सेक करें

बर्फ या ठन्डे पानी का सेक आपके सिरदर्द (Headache) के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है।

गर्दन या सिर के क्षेत्र में बर्फ की सिकाई से सूजन कम हो जाती है।

28 महिलाओं में एक अध्ययन में पाया गया कि उनमें सिर पर ठंडा जेल पैक लगाने से माइग्रेन का दर्द काफी कम हो गया।

सेक के लिए बर्फ को एक थेली या प्लास्टिक बैग में रख कर उस पर एक नरम तौलिया या कपड़ा लपेट कर उससे गर्दन, सिर या कनपटी के पीछे सेक करें।

7. कोएंज़ाइम Q10 लें

कोएंज़ाइम Q10 (CoQ10) शरीर द्वारा स्वाभाविक रूप से उत्पादित एक पदार्थ है जो भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है और एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट (26) के रूप में कार्य करता है।

अध्ययनों से पता चला है कि सिरदर्द (Headache) का इलाज करने के लिए CoQ10 की खुराक लेना एक प्रभावी और प्राकृतिक तरीका हो सकता है।

उदाहरण के लिए 80 लोगों में एक अध्ययन से पता चला है कि प्रति दिन 100 मिलीग्राम CoQ10 की खुराक लेने से माइग्रेन या सिरदर्द की गंभीरता के साथ उसके बार-बार व लम्बे समय तक होने को कम किया जा सकता है।

Read More : MIGRAINE | क्यों होता है माइग्रेन का अटैक?

8. चाय या कॉफी पिएं

कैफीन युक्त पेय पदार्थ जैसे कि चाय या कॉफी पीने से सिरदर्द (Headache) होने पर राहत मिल सकती है।

कैफीन मूड में सुधार करता है, सतर्कता बढ़ाता है और रक्त वाहिकाओं को संकुचित करता है, जिनमें से सभी सिरदर्द के लक्षणों पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

यह सिरदर्द (Headache) के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामान्य दवाओं की प्रभावशीलता को बढ़ाने में भी मदद करता है, जैसे कि आईबुप्रोफेन और एसिटामिनोफेन।

9. एक्यूपंक्चर

एक्यूपंक्चर पारंपरिक चीनी चिकित्सा की एक तकनीक है जिसमें शरीर पर विशिष्ट बिंदुओं को उत्तेजित करने के लिए त्वचा पर पतली सुइयों का इस्तेमाल किया जाता है।

एक्यूपंक्चर से सिरदर्द (Headache) में बहुत जल्दी आराम मिलता है।

4,400 से अधिक लोगों सहित 22 अध्ययनों में पाया गया कि एक्यूपंक्चर आम सिरदर्द की दवाओं की तरह ही प्रभावी होता है।

यदि आप पुराने सिरदर्द के इलाज के लिए प्राकृतिक तरीके की तलाश कर रहे हैं, तो एक्यूपंक्चर एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

10. स्ट्रॉन्ग स्मेल या तेज़ गंध से बचें

इत्र और सफाई उत्पाद जैसे फिनायेल आदि की मजबूत गंध कुछ व्यक्तियों में सिरदर्द विकसित करने का कारण बन सकते हैं।

400 लोगों पर एक अध्ययन में पाया गया कि मजबूत गंध, विशेष रूप से इत्र, परफ्यूम आदि माइग्रेन (Migraine) या सिरदर्द (Headache) को ट्रिगर करता है।

गंध के लिए इस अतिसंवेदनशीलता को ऑस्मोफोबिया कहा जाता है।

मेडकॉर्ड्स (MedCords) विशेषज्ञ के अनुसार यदि आपको लगता है कि आप गंध के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं तो इत्र, सिगरेट के धुएं और सुगंधित खाद्य पदार्थों से परहेज करें।

11. योग करें

योग का अभ्यास तनाव को दूर करने, लचीलापन बढ़ाने, दर्द को कम करने और आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए संजीवनी है।

योग करने से आपके सिरदर्द की तीव्रता और आवृत्ति को कम करने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों ने तीन महीने तक योग का अभ्यास किया, उनमें योग का अभ्यास नहीं करने वालों की तुलना में सिरदर्द की आवृत्ति, गंभीरता और संबंधित लक्षणों में काफ़ी कमी आई। अतः योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

इन 11 प्रभावी तरीकों से आप सिरदर्द को कम कर के आराम पा सकते हैं।

Aayu है आपका सहायक

अगर आपके घर का किसी सदस्य को ख़ून की कमी की समस्या है या लंबे समय से बीमार है या उसकी बीमारी घरेलू उपायों से कुछ समय के लिए ठीक हो जाती है, लेकिन पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको तत्काल उसे डॉक्टर से दिखाना चाहिए. क्योंकि कई बार छोटी बीमारी भी विकराल रूप धारण कर लेती है. अभी घर बैठे स्पेशलिस्ट डॉक्टर से “Aayu” ऐप पर परामर्श लें . Aayu ऐप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई बटन पर क्लिक करें.

8 Replies to “11 WAYS TO PREVENT HEADACHE | सिरदर्द से परेशान, अपनाएं ये 11 कारगर उपाय

  1. hamesha Mera sir dard hote rehte Hain mahina mein 15 din mahine hote hain ulti jab tak Nahin hote Hain jab tak shant Nahin hote hain ulti ho Gaya to 10 se 15 minut bad theek ho jaate Hain

  2. hamesha Mera sir dard hote rehte Hain mahina mein 15 din mahine hote hain ulti jab tak Nahin hote Hain jab tak shant Nahin hote hain ulti ho Gaya to 10 se 15 minut bad theek ho jaate Hain

  3. Mere Sir Me Bar Bar Dard Hota Hai Aur Sharir Me Kamjori Si Mahshoos Hota Hai Aur Lagatar Rahta Hai Jab Ankh Band Karta Hoo Tab Thora Sa Aaram Ho Jata Hai Iska Kya Karan Ho Sakta Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.